2 और 3 नवंबर को होगी पेरेंट्स-टीचर मीटिंग, पंजाब अचीवमेंट सर्वे की तैयारी हेतु दिए जाएंगे टिपस

10/29/2020 5:52:51 PM

लुधियाना (विक्की) : शिक्षा मंत्री विजय इंद्र सिंगला के नेतृत्व में दी जा रही मानक शिक्षा के सम्बन्ध में माता-पिता को जानकारी देने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा 2 और 3 नवंबर को पंजाब के लगभग 19 हज़ार सरकारी प्राइमरी, मिडल हाई और सीनियर सेकंडरी स्कूलों के में पढ़ते 27.10 लाख बच्चों के माता-पिता के साथ पेरेंट्स-टीचर मीटिंग आयोजित की जाएगी इस के सम्बन्ध में सचिव स्कूल शिक्षा कृष्ण कुमार ने बताया कि पंजाब के सरकारी स्कूलों में मानक शिक्षा दी जा रही है शिक्षा विभाग द्वारा 11 नवंबर से पंजाब अचीवमेंट सर्वे शुरू हो रहा है सरकारी स्कूलों में पढ़ते माता-पिता को इस सर्वेक्षण में बच्चों की अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए प्रोत्साहित करना इस दो दिवसीय पेरेंट्स-टीचर मीटिंग का उद्देश्य होगा। इसके साथ ही विभाग द्वारा आन -लाईन भेजी गई सहायक सामग्री का प्रयोग कर विद्यार्थी बढ़िया तैयारी कर सकें और पढ़ाई से सबंधित अन्य पक्षों के सम्बन्ध में भी माता-पिता को प्रोत्साहित किया जावेगा।
उन्होंने सभी स्कूल प्रमुखों और शिक्षकों को प्रेरित करते हुए कहा कि यह मौका है कि सभी अध्यापक और स्कूल प्रमुख सरकारी स्कूलों में प्री-प्राइमरी से 12वीं तक पढ़ते बच्चों के माता-पिता, स्कूल मैनेजमेंट कमेटी सदस्यों, पंचायत सदस्यों और मिड -डे -मील कार्यकर्ताों से सम्पर्क कायम कर सकते हैं। इन को प्रोत्साहित और जागरूक कर पंजाब अचीवमेंट सर्वे में अधिक से अधिक बच्चों की भागीदारी करवाई जा सकती है इस के लिए गाँवों और शहरों में सार्वजनिक स्थानों के द्वारा अनाउंसमैंट करवा कर, सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्मों जैसे कि फेसबुक्क, वटसऐप, टविट्टर आदि का अधिक से अधिक प्रयोग कर, पोस्टर, ऑडियो -वीडियो संदेश वायरल कर अध्यापक, स्कूल प्रमुख, पढ़ो पंजाब, पढ़ाओ पंजाब टीमें बच्चों, माता-पिता और अन्य कम्युनिटी सदस्यों को पेरेंट्स-टीचर मीटिंग की पहले जानकारी देने के लिए प्रयास करें। उन्होंने कहा कि पेरेंट्स-टीचर मीटिंग के समय सरकार द्वारा कोविड -19 के सम्बन्ध में जारी दिशा निर्देशों की पालना की जाए।
इस के सम्बन्ध में निर्देशक राज शिक्षा खोज और प्रशिक्षण परिषद पंजाब ने बताया कि शिक्षा विभाग के सभी शिक्षा अधिकारी, ज़िला नोडल अधिकारी, ज़िला शिक्षा अधिकारी सेकंडरी और एलिमेंट्री शिक्षा, उप -ज़िला शिक्षा अधिकारी, डायट प्रिंसिपल, ब्लाक प्राइमरी शिक्षा अधिकारी, सैंटर हैड टीचर और स्कूल प्रमुख अपने के अंतर्गत पड़ते स्कूलों के शिक्षकों से पेरेंट्स-टीचर मीटिंग से पहले मीटिंगों कर इस पेरेंट्स-टीचर मीटिंग के उद्देश्यों की पूर्ति के लिए शिक्षकों को प्रेरित करेंगे और निश्चित दिन के अनुसार पेरेंट्स-टीचर मिलनी में रैंडम स्तर पर भाग भी लेंगे।

 


Aacharya Kamal Nandlal

Related News