पंजाब यूनिवर्सिटी में बिना प्रवेश परीक्षा नहीं मिलेगा BA, LLB कोर्स में दाखिला

9/30/2020 1:59:41 PM

चंडीगढ़ (हांडा): पंजाब यूनिवर्सिटी में अब बी. ए., एल.एल.बी. और बी. काम., एल.एल.बी. के 5 वर्षीय डिग्री पाठ्यक्रम के लिए बिना प्रवेश परीक्षा दाखिला नहीं मिलेगा और न ही 12वीं में लिए गए नंबर दाखिले का आधार होंगे। पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में पंजाब यूनिवर्सिटी के प्रोफेशनल पाठ्यक्रम में बिना प्रवेश परीक्षा एडमिशन के निर्देशों को चुनौती दी गई थी, जिस की सुनवाई के बाद पंजाब यूनिवर्सिटी ने कोर्ट में कहा कि वह 3 दिनों में अपने निर्देशों पर फिर विचार करेगी।

अदालत ने पंजाब यूनिवर्सिटी के रिप्लाई के बाद पैटीशिन का निपटारा करते हुए पी. यू. को कहा है कि हाईकोर्ट के 1 सितंबर के निर्देशों पर भी अमल किया जाये, जिसमें हाईकोर्ट ने पी. यू. को उसके फैसले पर फिर विचार करने के लिए कहा था। मोहाली निवासी चिराग़ माली ने कहा था कि उसने 12वीं की परीक्षा  पास की है और वह कानून की पढ़ाई करना चाहता था, जिसके लिए उस ने यू. आई. ऐल्ल. ऐस्स. की तरफ से जारी प्रौस्पैक्टस के माध्यम के साथ अर्ज़ी दी थी, जिसमें बी. ए., ऐल्ल. ऐल्ल. बी. और बी. काम., ऐल्ल. ऐल्ल. बी. के 5 वर्षीय पाठ्यक्रम के लिए 180 सीटों में दाख़िले ली 17 जून को दाख़िला परीक्षा होनी थी।

वह परीक्षा की तैयारी कर रहा था परन्तु बाद में कोविड -19 के चलते एंट्रेंस टैस्ट 4 अक्तूबर तक स्थगित कर दिया गया था। एडवोकेट अभिनव गुप्ता ने कोर्ट को बताया कि एंट्रेंस टैस्ट के लिए विद्यार्थी सख्त मेहनत के साथ तैयारी कर रहे थे कि अचानक पंजाब यूनिवर्सिटी की तरफ से 11 अगस्त को सर्कुलर जारी कर कर एंट्रेंस टैस्ट की जगह 12वीं की परीक्षा में लिए गए अंकों के आधार पर दाख़िले की मेरिट तैयार करने की बात कही गई, जो कि न्याय संगत नहीं है।

पिटीशनर ने माँग की थी कि पंजाब यूनिवर्सिटी को इस संबंध में कोर्ट दिशा -निर्देश जारी कर विद्यार्थियों के भविष्य के साथ इंसाफ करे। कोर्ट ने पंजाब यूनिवर्सिटी के एंट्रेंस टैस्ट संबंधी सर्कुलर को रद्द कर दिया है और पंजाब यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट 3 दिनों में अपने फ़ैसले पर फिर विचार कर विकल्प ढूंढेगी। 


Tania pathak

Related News