पूर्व मुख्यमंत्री बादल व सुखबीर ने पंजाब-हरियाणा जल विवाद पर चुप्पी क्यों साध रखी है : राजा गुरप्रीत

9/22/2019 10:13:13 AM

जालंधर(चोपड़ा): पंजाब-हरियाणा जल विवाद को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को दो-टूक जवाब देकर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने एक साहसिक कदम उठाया है, जिससे साबित होता है कि अमरेन्द्र ही पंजाब व पंजाबियत के सच्चे रक्षक हैं। 

उक्त शब्द वरिष्ठ कांग्रेसी नेता राजा गुरप्रीत सिंह सुल्तानपुर लोधी ने एक बयान जारी करते समय कहे। राजा गुरप्रीत ने बादल परिवार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल ने इस मामले में अभी तक चुप्पी क्यों साध रखी है। उन्हें प्रदेश की जनता के समक्ष अपना स्टैंड क्लीयर करना चाहिए कि क्या वह पंजाब के हितों अथवा केंद्र सरकार के साथ हैं। 

बादल परिवार पंजाब के लोगों के साथ खड़े होने की अपेक्षा केवल सत्ता लालसा में भाजपा के समक्ष घुटने टेक चुका है। केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल को तुरंत अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। केंद्र व हरियाणा सरकार पंजाब के हितों पर डाका डालना चाहते हैं परंतु अमरेन्द्र ने शुरू से ही अपना पक्ष क्लीयर कर रखा है कि पंजाब के पास अतिरिक्त पानी नहीं है, जिस कारण पंजाब हरियाणा को पानी देने की स्थिति में नहीं है। राजा गुरप्रीत ने कहा कि मोदी सरकार पंजाब के साथ सौतेली मां सा व्यवहार कर रही है। उन्होंने कहा कि श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में आयोजित हो रहे कार्यक्रमों के लिए केंद्र सरकार ने कोई फंड्स रीलीज नहीं किया है।


swetha

Related News