लड़कियों को विदेश से आई बताकर आगे बेच रहा गिरोह, पिता ने किए चौंकाने वाले खुलासे

punjabkesari.in Friday, Feb 11, 2022 - 01:32 PM (IST)

फिल्लौर(भाखड़ी): एक पीड़ित पिता ने आरोप लगाया है कि शहर में महिला गिरोह सक्रिय है जो गरीब घर की सुंदर लड़कियों को अपने जाल में फंसाकर उनको हाल ही में विदेश से लौटी बताकर उनका लड़कों से शारीरिक शोषण करवाकर लाखों रुपए ऐंठ रहा है। उसकी 22 वर्ष की लड़की को भी सिंगापुर से लौटी बताकर पहले जालंधर के लड़के से साढ़े 8 लाख रुपए ले लिए फिर मोगा के रहने वाले लड़के से 11 लाख रुपए लेकर उससे शादी करवा दी। विवाह के कुछ दिनों बाद जब लड़के को सच्चाई पता चली तो उसने एस.एस.पी. मोगा के पास शिकायत दी।

महिला कर रही है गिरोह का संचालन 
रमेश ने बताया कि उसके ही शहर की रहने वाली महिला ने अपना एक गिरोह बनाया हुआ है जो गरीब घर की सुंदर लड़कियों को अपने जाल में फंसा लेते हैं। लड़की और उसके परिवार के लोगों को बड़े ख्वाब दिखा फिर उनकी लड़कियों का शोषण करवाती है और लड़कों को मूर्ख बनाकर उन्हें विदेश के सपने दिखा उनकी लड़कियों को उनसे मिलाकर लाखों रुपए ऐंठ लेती है, ऐसा ही सब कुछ उसकी लड़की के साथ भी हुआ है। उक्त महिला और उसके गिरोह ने जालंधर के लड़के के साथ उसका चक्कर चला दिया कि यह लड़की हाल ही विदेश से लौटी है, अगर वह उससे विवाह रचाना चाहता है तो उन्हें 9 लाख रुपए दे दे। उसकी लड़की को उस लड़के के साथ भेज उसकी आपत्तिजनक वीडियो भी बनाई हैं, अब उसे मुंह बंद रखने के लिए भी कहा जा रहा है। उससे साढ़े 8 लाख रुपए एंठने के बाद उसकी लड़की का चक्कर वैसा ही विदेश का बोल कर मोगा के रहने वाले एक लड़के से चला दिया और उससे 11 लाख रुपए लेकर उससे उस लड़के की शादी रचा दी।

यह भी पढ़ें : पंजाब चुनाव मैदान में एक्टिव हुए 'सुनील जाखड़', चयन मुहिम की संभाली कमान

बड़ी बहन व मां भी छिपाती रहीं पिता से बात
आज एक पत्रकार सम्मेलन का आयोजन कर फिल्लौर सब-डिवीजन में पड़ते शहर गौराया के रहने वाले रमेश कुमार ने बताया कि उसके 3 बच्चे बड़ा लड़का (27). उससेछोटी लड़की (26) और सबसे छोटी लड़की 22 वर्ष की है। वह लक्कड़ मिस्त्री है जबकि उसकी पत्नी नजदीकी गांव में खिलौने की दुकान करती है। कुछ समय पहले उसकी सबसे छोटी बेटी मोनिका 22 जो गोराया में ही एक गिफ्ट शॉप पर काम करती थी, अचानक घर से गायब हो गई। उसने जब अपनी पत्नी से पूछा उसकी बेटी कहां है, वह घर क्यों नहीं आ रही तो उसकी पत्नी व बड़ी बेटी ने उसे जो बात बताई वह उसे हजम नहीं हुई जिन्होंने उसे बताया कि मौनिका सिंगापुर चली गई है। 

वहां की एक कंपनी ने उसे 2 वर्ष का वीजा भेजकर अपने पास बुला लिया है जहां पर वह काम करेगी औरअच्छेरुपए कमाएगी। जब उसने कहा कि उसकातो पासपोर्ट ही नहीं बना था तो वह सिंगापुर कैसे जा सकती है तो उन्होंने कहा कि उनके ही शहर की पहचान की औरत है, उसी ने उसे सिंगापुर भेजा है। रमेश कुमार ने बताया कि उसे समझ नहीं आ रहा था कि उसी के परिवार के लोग लड़की के गायब होने को लेकर उससे कुछ छुपा रहे हैं, उसे हैरानी तब हुई जब एक सप्ताह बाद ही उसकी लड़की दुकान पर आ गई। तभी पास बैठी उसकी पत्नी ने उसे बताया कि उसने शादी कर ली है। उसे बुरा लगा कि उसके बिना उसने कैसे विवाह रचा लिया जबकि वह  तो सिंगापुर गई हुई थी, उसकी बेटी मिलकर वापस चली गई। कुछ दिन पुलिस उनके घर  मोगा से पुलिस आ गई जिसके बाद जाकर उसकी लड़की के गायब होने के राज से पर्दा उठा।

यह भी पढ़ें : जानिए IT कैसे बढ़ा सकता है CM चन्नी के भांजे की मुश्किलें

नकली पिता निभा रहा विवाह की रस्में, लड़की से लिया जाता है एफिडेविट
यही नहीं, विवाह में जो व्यक्ति उसकी लड़की का पिता बनकर रस्में निभा रहा है, वह भी गिरोह के लोगों ने नकली बनाया हुआ था। उक्त गिरोह की महिला के ऊपर लड़की या उसके परिवार के लोग कोई कार्रवाई न कर दें, इसके लिए वह पहले ही लड़की से एक एफिडेविट ले लेती हैं कि वह सब कुछ अपनी मर्जी से कर रही हैं। शादी के कुछ दिनों बाद लड़के को पता चल गया जिससे उसने 11 लाख रुपए देकर विवाह रचाया है वह कभी विदेश गई ही नहीं जबकि उसे ठगा जा चुका है। उक्त लड़के ने एस. एस. पी. मोगा के पास पेश होकर शिकायत करते हुए कार्रवाई की मांग की है। उक्त लड़के ने गिरोह की प्रमुख और उसके साथियों के अलावा उसकी बड़ी बेटी के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग की है। इसके बाद अब मोगा पुलिस ने उनके घर पहुंच कर सभी को वहां पेश होने का बोल कर गई है। रमेश ने कहा वह खुद उच्चाधिकारियों के पास पेश होकर इंसाफ की गुहार लगाएगा और इस गिरोह के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग करेगा जो गरीब परिवारों की मजबूर लड़कियों का फायदा उठाकर उनका शोषण करवाता है और फिर उन्हें विदेश से आई बता कर आगे उन्हें लाखों में बेच देती है। 

उसने पुलिस से अपनी सुरक्षा की मांगकरते हुए कहा इस गिरोह के विरूद्ध आवाज उठाने के चक्कर में उसकी जान को खतरा है परंतु वह अपनी बेटी को वापस पाना चाहता है उसकी लड़की को सुरक्षित उसके घर पहुंचाया जाए। इस घटना में अगर उसके परिवार काकोई सदस्य भी शामिल है तो पुलिस उसके विरुद्ध भी जांच कर कार्रवाई करे। इस संबंध में जब रमेश की बड़ी बेटी से बात की तो उसने बताया की मोगा के रहने वाले लड़के से अड़ाई लाख रुपए का चैक उसके नाम का ले लिया गया, जैसे ही वह रकम उसके बैंक मे आई तो उक्त महिला उसके खाते से वह अड़ाई लाख रुपए भी निकलवा कर ले गई और उसे मात्र 10 हजार रुपए ही दिए गए।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sunita sarangal

Related News

Recommended News