गन प्वाइंट पर लेकर कार लूटने की कोशिश, नकली पिस्तौल का शक पड़ते ही लुटेरे से भिड़ा युवा कारोबारी

punjabkesari.in Tuesday, May 10, 2022 - 11:29 PM (IST)

जालंधर(वरूण): शहर में कानून व्यवस्था का बुरा हाल है। नकोदर चौक के साथ ही स्थित सब-वे के बाहर खड़ी होंडा सिटी गाड़ी को गन प्वाइंट पर लूटने की कोशिश की गई। गनीमत रही कि कोयले का युवा कारोबारी लुटेरे की पिस्तौल को नकली भांप गया था जिसने अपनी पत्नी को गाड़ी से बाहर भेजा और फिर लुटेरे से भिड़ गया। लुटेरे ने कारोबारी से मारपीट भी की लेकिन जब कारोबारी ने हमला किया तो वह अपनी खिलौना पिस्तौल कारोबारी के हाथ में छोड़ फरार हो गया। आरोपी को 2 युवकों ने पीछा करके आदर्श नगर के पार्क से काबू कर लिया। 

जानकारी देते अंकित चोपड़ा पुत्र रवि चोपड़ा निवासी बैक साइड मिलाप चौक ने बताया कि वह फुटबाल चौक से अपनी पत्नी गौरी चोपड़ा को मायके से ला रहा था। रास्ते में वह खाना पैक करवाने के लिए नकोदर चौक के पास स्थित सब-वे में रुक गए। पति पत्नी अंदर से खाने के सामान पैक करवा कर जैसे ही अपनी गाड़ी को अनलॉक करके अंदर बैठे तो देखते ही देखते पिछली सीट पर एक अज्ञात युवक गाड़ी का दरवाजा खोल कर बैठ गया। गाड़ी में बैठते ही आरोपी ने अंकित चोपड़ा पर पिस्तौल तान दी। आरोपी अंकित से गाली-गलौच करना शुरू हो गया। इसी दौरान अंकित को शक हुआ कि पिस्तौल नकली है। उसने तुरंत पिस्तौल झपट ली जिसके बाद लुटेरे ने अंकित पर हमला कर दिया। इसी दौरान अंकित ने अपनी पत्नी को गाड़ी से उतर कर शोर मचाने को कहा। 

अंकित पर हमला कर रहा लुटेरा शोर होते देख गाड़ी से निकला लेकिन अंकित ने फिर भी उसे पकड़ लिया। उसके हाथ से दोबारा नकली पिस्तौल छीनी जिसके बाद लुटेरे पैदल ही भाग गया और कुछ दूरी पर जाकर एक एक्टिवा पर बैठ आर्दश नगर की तरफ चला गया। उधर वहीं से गुजर रहे दो युवकों ने पीछा करते हुए लुटेरे को आर्दश नगर पार्क से काबू कर लिया। इस दौरान अंकित के चेहरे में चोट लगी है। सूचना मिलते ही थाना चार के प्रभारी अवतार सिंह मौके पर पहुंच गए। उन्होंने अंकित को थाना 4 ले जाकर उसके बयान दर्ज किए और फिर सिविल अस्पताल से मैडीकल करवाया। अंकित चोपड़ा का कहना है कि आरोपी गाड़ी लूटने की मंशा से ही आया था। पकड़ा गया आरोपी नशेड़ी किस्म का है।

हैरानी की बात है कि जिन सिख युवकों ने लुटेरे का अपनी बाइक पर पीछा करके उसे काबू किया, थाना चार में उसी युवक पर पिस्तौल तान दी गई। दरअसल रणजीत सिंह निवासी बस्ती बावा खेल ने बताया कि उसने मेहनत से अपना बाइक खरीदा था जो 6 माह पहले चोरी हो गया था। उसने बाइक को ढूंढने के लिए काफी प्रयास किए लेकिन बाइक नहीं मिला। 

रणजीत अपने दोस्त प्रिंस के साथ सब-वे के बाहर से निकल रहा था। उसे लगा कि दो भाई लड़ रहे हैं। लेकिन जैसे ही उसे असलियत पता लगी तो उन्होंने बाइक पर लुटेरे का पीछा करना शुरू कर दिया। आदर्श नगर के पार्क में प्रिंस और रणजीत ने आरोपी को काबू कर लिया। जैसे ही आरोपी को थाना 4 में लाया गया तो रणजीत सिंह को बाइक के चोरी होने से आहत था और उसने आरोपी को एक थप्पड़ जड़ दिया। ऐसे में आरोपी को पकड़ने वाले रणजीत सिंह की पीठ पर पिस्तौल तान दी गई और उसे धक्के मार कर थाने से बाहर कर दिया गया। इसके बाद थाने की लाइट भी बंद हो गई थी। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pardeep

Related News

Recommended News