पुलिस को मिली सफलता, यूको बैंक लूटने वाला गिरफ्तार, Gangster से जुड़ रहे तार

punjabkesari.in Thursday, Aug 11, 2022 - 01:48 PM (IST)

जालंधर (वरुण): इंडस्ट्रियल एरिया में यूको बैंक में हुई लाखों की लूट को ट्रेस करने के लिए दिन रात मेहनत कर रही कमिश्नरेट पुलिस को बुधवार बड़ी लीड मिली। पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल हुई ब्लैक रंग की एक्टिवा समेत एक लुटेरे को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने बताया कि उसके साथ लूट कांड में शामिल लुटेरे नामी गैंगस्टर के साथी और प्रोफैशनल लुटेरे भी हैं। आरोपियों के खिलाफ पहले भी क्रिमिनल केस दर्ज हैं। पुलिस कमिश्नर गुरशरण सिंह संधू आने वाले दिनों में लूट की इस बड़ी वारदात को ट्रेस करने संबंधी प्रैस कांफ्रैंस कर सकते हैं।

लुटेरे इतने शातिर थे कि उन्होंने पुलिस को उलझाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। कमिश्नरेट पुलिस की एक स्पैशल टीम निज्जरां के पास मोटर पर लुटेरों के कपड़े व जूते बरामद करके लगातार सी.सी.टी.वी. कैमरे चैक करते हुए उनका रूट ट्रैक कर रही थी। जांच में पता लगा कि लुटेरे निज्जरां से वापस कोट सद्दिक से नहर के कच्चे रास्ते से होते हुए वडाला पिंड और फिर घास मंडी तक पहुंचे। पुलिस के पास लुटेरों की आखिरी लोकेशन घास मंडी की ही है। लेकिन इसी बीच पुलिस को वारदात में इस्तेमाल हुई ब्लैक एक्टिवा को लेकर बड़ी लीड मिली।

पुलिस ने बस्तियात क्षेत्र के एक युवक को उठा लिया जिससे वारदात में इस्तेमाल हुई एक्टिवा भी बरामद कर ली गई। आरोपी ने खुलाया किया कि वारदात के समय वह भी मौके पर था। जब अन्य दो लुटेरों के बारे पूछताछ की गई तो पता लगा कि वह लुटेरे पंजाब के बाहरी राज्य के एक बड़े गैंगस्टर के साथी है जो उसके गैंग के लिए काम करते हैं। फिलहाल पुलिस ने उनके घरों में दबिश दी लेकिन वह आरोपी घर नहीं मिले। आने वाले दिनों में पुलिस उन्हें भी जल्द ही गिरफ्तार कर सकती है।

उक्त गिरफ्तार हुए इस लुटेरे से कैश तो नहीं मिला है। उसका कहना है कि कैश उसके दो साथियों के पास ही है। सूत्रों की मानें तो आरोपियों ने बैंक कर्मचारी महिला को नकली पिस्तौल दिखा कर उसके गहने लूटे थे जबकि जिस पिस्तौल के बट से कैश रूम का शीशा तोड़ा गया था वह असली था। पुलिस जल्द ही अन्य लुटेरों को गिरफ्तार करके उनसे लूट के पैसे और गहने बरामद कर सकती है।

बता दें कि 4 अगस्त को तीन लुटेरों ने यूको बैंक में घुस कर गन प्वाइंट पर लेकर स्टाफ व ग्राहकों को बंधक बना लिया था। आरोपियों ने बैंक के कैश रूम से 13 लाख से ज्यादा कैस लूटा था।

डी.सी.पी. तेजा खुद तड़के पांच बजे सर्च के लिए निकले

सूत्रों की मानें तो इस लूट कांड को ट्रेस करने के लिए डी.सी.पी. इंवैस्टिगेशन जसकिरणजीत सिंह तेजा भी अपनी टीमों के साथ दिन रात टच में थे। पुलिस कमिश्नर गुरशरण सिंह संधू ने इस केस को ट्रेस करने के लिए निज्जरां पहुंचे थे लेकिन डी.सी.पी. तेजा बुधवार तड़के 5 बजे ही कादियां गांव में 500 मुलाजिमों के साथ पहुंचे जिन्होंने आसपास के गावों में भी सर्च अभियान चलाया। इस लूट कांड को ट्रेस करने के लिए भी डी.सी.पी. तेजा की स्पैशल गठित की गई टीम में अहम रोल निभाया जिन्होंने दिन रात 700 से भी ज्यादा सी.सी.टी.वी. कैमरे चैक करके लूट कांड को ट्रेस किया।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kalash

Related News

Recommended News