बंदी सिंहों की रिहाई को लेकर विरसा सिंह वलटोहा ने बुलंद की आवाज

punjabkesari.in Wednesday, Apr 20, 2022 - 05:50 PM (IST)

अमृतसर (गुरिन्दर सागर): लंबे समय से जेलों में बंद बंदी सिंहों की रिहाई को लेकर एक बार फिर मामला गर्माता हुआ नजर आ रहा है। लगातार ही शिरोमणि अकाली दल की नेता बीबी हरसिमरत कौर बादल की तरफ से भी बंदी सिंहों की रिहाई को लेकर सांसद में आवाज उठाई जा रही थी और दूसरी तरफ पिछले दिनों कुछ सिख जत्थेबंदियों की तरफ से भी बंदी सिंहों की रिहाई को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेन्दर मोदी को भी पत्र लिखा गया जिसके बाद आज शिरोमणी अकाली दल के सीनियर नेता और पूर्व विधायक विरसा सिंह वलटोहा की तरफ से भी प्रेस वार्ता करके पंजाब के हरेक बाशिन्दे को इकठ्ठा होकर बंदी सिंहों की रिहाई के लिए आवाज उठाने के लिए अपील की है। 

यह भी पढ़ेंः SYL के मुद्दे पर AAP का बड़ा बयान बोले-'जान कुर्बान कर देंगे पर ...' 

इस दौरान पत्रकारों के साथ बातचीत करते विरसा सिंह वलटोहा ने कहा कि लंबे समय में जेलों में बंद और अपनी सजाएं पूरी कर चुके बंदी सिंहों को अभी भी सरकार छोड़ने को तैयार नहीं जिसके लिए लंबे समय से सिख जत्थेबंदियां और शिरोमणि अकाली दल प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि अब एक बार फिर जरूरत है कि हरेक धर्म के नागरिक को इकठ्ठा होकर बंदी सिंहों की रिहाई के लिए आवाज उठानी चाहिए। इसके साथ ही बोलते हुए उन्होंने कहा कि लोगों ने आम आदमी पार्टी को जिता दिया लेकिन लोग अब इस समय पछता रहे हैं। 

यह भी पढ़ेंः बी.एस.एफ. का स्मगलरों के खिलाफ अभियान तेज, सूचना देने वाले को लेकर की ये घोषणा

इसके साथ ही बोलते हुए उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी हमेशा कहती आई कि 70 वर्षों में किसी पार्टी ने कोई विकास नहीं किया। उन्होंने कहा कि आज के समय में हर एक के घर मोटर व्हीकल मौजूद है और हर एक के पास नई टेक्नोलॉजी के मोबाइल फोन हैं। यह 70 वर्षों के हुए विकास का ही प्रभाव है। आम आदमी पार्टी झूठ बोल कर सत्ता में आई है और अब सरकार भी नहीं चल रही। इसके साथ ही बोलते हुए कहा कि 21 अप्रैल को देश के प्रधानमंत्री नरेन्दर मोदी नौवें पातशाही श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी के प्रकाश पर्व और लाल किले में संबोधन करेंगे। वह आशा करते हैं कि वह बंदी सिंहों की रिहाई का फैसला भी कर सकते हैं। अगर ऐसा करते हैं और वह प्रधानमंत्री नरेन्दर मोदी का धन्यवाद करेंगे।

यह भी पढ़ेंः तरुण चुघ ने 'आप' सरकार पर लगाए आरोप, कहा-पुलिस बल का हो रहा खुलेआम दुरुपयोग

जिक्रयोग्य है कि 1984 के समय पर पंजाब में खराब हुए माहौल दौरान सिख नेताओं की तरफ से गर्मजोशी देश में आकर कुछ ऐसे कदम उठाए गए कि उनको सजाएं हो गई, लेकिन सजाएं पूरी होने के बावजूद भी सरकार अब बंदी सिंहों को रिहा नहीं कर रही जिसको लेकर लंबे समय से अलग-अलग कई सिख जत्थेबंदियों की तरफ से आवाज भी उठाई गई है लेकिन अभी भी सरकारें उन बंदी सिंहों को रिहा करने का फैसला नहीं ले रही जिसके बाद कि अब शिरोमणि अकाली दल के नेताओं की तरफ से भी बंदी सिंहों की रिहाई को लेकर आवाज उठाई जा रही है।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News