गढ़शंकर में गांवों के सरपंच व लोग क्यों करेंगे चुनावों का बायकाट, पढ़ें खबर

punjabkesari.in Wednesday, Feb 16, 2022 - 05:35 PM (IST)

गढ़शंकर (शौरी): विधान सभा हलके गढ़शंकर के गांव बसियाला समेत 5 अन्य गांवों के लोगों की तरफ से एक बंद पड़े रेलवे फाटक को खुलवाने की मांग को लेकर पिछले 10 दिनों से लगातार दिए जा रहे शांतिपूर्वक रोष धरने दौरान आज बड़ा फैसला किया। उन्होंने कहा कि यदि वोटों से पहले बसियाला के बंद रेलवे फाटक को न खोला गया तो गांव बसियाला और गांव रसूलपुर के लोग विधान सभा वोटों में पूर्ण तौर पर मुकम्मल बायकाट करेंगे और किसी भी पार्टी का कोई बूथ नहीं लगाया जाएगा। गांव बसियाला से सरपंच और अन्य लोगों ने बताया कि यदि प्रशासन ने उनकी मांग को गंभीरता के साथ न लिया तो 18 फरवरी को जालंधर से जेजों दरम्यिान चलने वाली रेल गाड़ी को इस फाटक पर रोक कर निकलने नहीं दिया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः अकाली उम्मीदवार के पक्ष में सुखबीर बादल ने किया चुनावी प्रचार, 'आप' पर कसा तंज 

PunjabKesari

प्रदर्शनकारियों ने बताया कि गांव बसियाला, बकापुर गुरु, रसूलपुर, चौहड़ा, देनोवाल कलां और डोगरपुर के लोग इस बंद पड़े रेलवे फाटक कारण पिछले तीन वर्ष से परेशानी बर्दाश्त कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि न तो कोई राजनीतिक नेता और न ही प्रशासनिक अधिकारी उनकी इस समस्या की तरफ ध्यान दे रहा है और न ही उनके केस की पैरवी कर रहा है। 

यह भी पढ़ेंः पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 : प्रचार के लिए पहुंचे अब इस राज्य के मुख्यमंत्री

प्रदर्शनकारियों ने बताया कि उन्होंने अपनी मांग सम्बन्धित केंद्रीय रेलवे मंत्री अश्विनी वैष्णव को पत्र लिख कर विस्तारपूर्वक अपनी समस्या भेजी है और इससे पहले भी वह अलग-अलग आधिकारियों और राजनीतिक नेताओं को अपनी समस्या बता चुके हैं परन्तु किसी भी राजनीतिक कैटेगरी का नेता उनकी समस्या को हल करवाने के लिए यत्न करता नजर नहीं दिखाई दे रहा। गढ़शंकर नवांशहर रोड पर गांव बसियाला को जाने वाले लिंक मार्ग पर पड़ते फाटक को खुलवाने की मांग को लेकर प्रदर्शनकारियों ने इस फाटक और बाकायदा फलेक्सें लगवाकर अपने इरादे साफ कर दिए हैं।

यह भी पढ़ेंः पंजाब में मोदी की रैलियों का विरोध, जत्थेबंदियों ने लिया यह फैसला

बतानेयोग्य है कि गांव बसियाला के कुल वोट 1117 और गांव रसूलपुर के कुल वोट 462 और दोनों गांवों के कुल वोट 1579 हैं। पिछली विधान सभा में गढ़शंकर विधान सभा मतदान में 1650 वोटों के अंतर के साथ आम आदमी पार्टी जीती थी इसलिए यदि दोनों गांवों के लोगों ने वोटों का मुकम्मल बायकाट कर दिया तो सहज ही समझा जा सकता है कि इसका चयन नतीजे पर कितना प्रभाव होगा।

PunjabKesari

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News