धूना साहिब ट्रस्ट के तीर्थ के प्रबंधों में भारी अनियमितताएं

Monday, March 20, 2017 2:31 PM
धूना साहिब ट्रस्ट के तीर्थ के प्रबंधों में भारी अनियमितताएं

अमृतसर(टीटू): प्राचीन व ऐतिहासिक तीर्थ स्थल भगवान वाल्मीकि आश्रम रामतीर्थ के प्रबंधों में जहां धूना साहिब ट्रस्ट के सदस्यों द्वारा भारी अनियमितताएं पाए जाने के आरोप लगाए गए वहीं पर श्राइन बोर्ड को खत्म करने के साथ-साथ उक्त तीर्थ स्थल की देख-रेख कर रहे जी.एम. को भी सस्पैंड करने की मांग की गई। पावन सरोवर में बने भगवान वाल्मीकि जी के मन्दिर में ट्रस्ट के गद्दीनशीन संत मलकीत नाथ व चेयरमैन ओम प्रकाश गब्बर ने कहा कि भगवान वाल्मीकि आश्रम रामतीर्थ की सांझ-संभाल की जिम्मेदारी वाल्मीकि समाज को सौंपी जाए और श्राइन बोर्ड को पूर्णतया खत्म किया जाए।

भगवान वाल्मीकि मन्दिर की सफाई उपरांत उसका पानी सीधा पावन सरोवर में जाता है जिसके बारे में कई बार जी.एम. को बताया गया। दूसरी तरफ मन्दिर परिसर में बने बाथरूम आज तक बंद पड़े हैं जिससे श्रद्धालुओं को मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। गब्बर ने बताया कि जब से पावन मन्दिर का निर्माण हुआ है सरोवर का जल स्तर पूरा नहीं हुआ और श्रद्धालु स्नान आदि करने से वंचित रहते हैं। जब भी जी.एम. से किसी प्रबंध संबंधी बात की है तो वह उनकी बात को नजरअंदाज कर देते हैं। 

ट्रस्ट द्वारा पंजाब सरकार से विशेष मांग की गई है कि वह गुरु नगरी की तरह बाकी धार्मिक तीर्थों की तर्ज पर भगवान वाल्मीकि तीर्थ की संभाल की जिम्मेदारी वाल्मीकि समाज को सौंपे। दूसरी तरफ जी.एम. पी. कुमार ने बताया कि सरकार की ओर से उन्हें भगवान वाल्मीकि तीर्थ की देखभाल करने के लिए जो जिम्मेदारी सौंपी गई है उसे वह ईमानदारी से निभा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पावन तीर्थ की जरूरत के लिए अगर कोई भी व्यवस्था करनी पड़ती है तो वह उस कार्य को पूरी जिम्मेदारी से करते हैं, बाकी ट्रस्ट के पदाधिकारियों द्वारा लगाए आरोप निराधार हैं।  



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !