कनाडा संसद में पहुंचे 18 पंजाबी सांसद, होशियारपुर की शान वखरी

10/22/2019 10:44:00 PM

होशियारपुर (अमरेन्द्र मिश्रा): कनाडा में सोमवार को हुए चुनाव में कुल 388 सीटों में से 157 सीट जीतने वाली लिबरल पार्टी की सरकार एक बार फिर से जस्टिन ट्रूडो के नेतृत्व में बनने पर पंजाबियों के लिए यह गर्व की बात है कि पिछली सरकार में 16 के मुकाबले इस चुनाव में कुल 18 सांसद बने हैं। इन 18 सांसदों में अकेले होशियारपुर जिले से संबंधित पिछली बार की ही तरह इस बार भी 5 सांसद चुनाव जीत पूरे विश्व में ही नहीं बल्कि भारत व पंजाब के साथ-साथ होशियारपुर जिले को भी एक बार फिर से गौरवांवित किया है। यह पहला मौका है जब इतनी बड़ी तादाद में भारतीय यहां की संसद के लिए चुने गए हैं। 

होशियारपुर की 2 बेटियां भी फिर से बनी सांसद 
गौरतलब है कि इस चुनाव में लगातार दूसरी बार होशियारपुर के माहिलपुर के साथ लगते गांव बबेली के रहने वाले लेफ्टिनेंट कर्नल हरजीत सिंह सज्जन चुनाव जीत सांसद निर्वाचित हुए हैं। यही नहीं मूलरुप से लुधियाना के रहने वाले व होशियारपुर के तलवाड़ा के सरकारी स्कूल व बाद में गवर्नमैंट कॉलेज होशियारपुर में उच्च शिक्षा हासिल करने वाले सुख धालीवाल तीसरी बार सांसद निर्वाचित हुए हैं। इसके साथ ही माहिलपुर के ही रहने वाले व बाद में गंगानगर(राजस्थान) से भी शिफ्ट हो कनाडा पहुंचे नवदीप सिंह बैंस भी सांसद चुने गए हैं। इसी तरह होशियारपुर के मुहल्ला बिजय नगर के रहने वाली रुबी सहोता ने ब्राम्पटन नार्थ सीट से और गढ़दीवाला से 7 किलोमीटर दूर कंडी क्षेत्र के गांव दारापुर धर्मकोट की 40 वर्षीया बेटी अंजू ढिल्लन ने कनाडा के मांट्रियल स्टेट के डोरवल लसीन सीट लगातार दूसरी बार लिबरल सांसद चुनी गई है। 

कर्नल सज्जन ने किया होशियारपुर का नाम रोशन
कनाडा सरकार में रक्षा मंत्री के तौर पर अपनी खास पहचान कायम करने वाले होशियारपुर के बबेली गांव के रहने वाले लेफ्टिनेंट कर्नल हरजीत सिंह सज्जन पहले पगड़ीधारी सेना अधिकारी है जो कनाडाई सेना के सर्वोच्च सम्मान आर्डर आफ मिलेट्री के सम्मान से नबाजे जा चुके हैं। अफगानिस्तान में उन्होंने पश्चिमी सेना को लीड करने का सम्मान भी उन्हें प्राप्त है। कर्नल सज्जन ने कनाडा सेना में 1989 में शामिल हुए थे। साल 1995 में पहले कैप्टन व साल 2005 में वह मेजर रैंक पर पहुंचे थे। इस चुनाव में उन्होंने बैंकुवर साऊथ ब्रिटिश कोलंबिया से लगातार दूसरी बार सांसद निर्वाचित हुए हैं।

PunjabKesari

माहिलपुर के नवदीप बैंस भी बने कनाडाई सांसद
कनाडा के चुनाव में जीतने वाले माहिलपुर के गांव लैहलीकलां के रहने वाले नवदीप सिंह बैंस भी लिबरल पार्टी से मिसिसांगा माल्टन ओंटारियो सीट से चुनाव जीत सांसद बने हैं। हालांकि बरसो पहले उनका परिवार लैहलीकलां को छोड़ इस समय माहिलपुर में बस गए हैं पर इस समय माहिलपुर में भी उनके घर में ताला लगा हुआ है। नवदीप सिंह बैंस के पिता चंचल सिंह साल में दो बार कनाडा से माहिलपुर लौट जमीन जायदाद का काम देखने जरुर आते हैं। पहली बार जब वह साल 2004 में ब्राम्पटन साऊथ सीट से चुनाव जीते थे तो कनाडा के सबसे युवा सांसद के तौर पर मशहुर हुए थे।

पंजाब लौटने पर सुख धालीवाल होशियारपुर जरुर आते हैं
कनाडा के सर्रे न्यूटान सीट से लिबरल पार्टी के सांसद बने सुख धालीवाल का बचपन होशियारपुर से ही संबंधित है। तलवाड़ा के सरकारी स्कूल से पढ़ाई करने के बाद उन्होंने सरकारी कालेज होशियारपुर से पढ़ाई करने के बाद लुधियाना से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर 1984 में कनाडा चले गए थे। कनाडा में सामाजिक कार्यों में भाग लेते हुए वह चौथी बार फिर से सांसद निर्वाचित होने के बाद उन्होंने इस जीत को अपने स्वर्गीय पिता को समर्पित करते हुए भावुक हो उठे। गौरतलब है कि साल 2015 में उनके पिता का देहांत हुआ है।

पेशे से वकील है सांसद रुबी सहोता
होशियारपुर के गांव मोतियां के रहने वाले व अब होशियारपुर के विजय नगर में सहोता फार्म हाऊस में शिफ्ट हो चुके सहोता परिवार की लाडली बहु रुबी पेशे से वकील है। रुबी के पति हरबंस सिंह के दादा गुरबक्श सिंह सहोता 1970 में होशियारपुर छोड़ कनाडा जा बसे थे। कनाडा में इस समय रुबी सहोता अपने पति डा. जतिन्दर सहोता व पुत्र निहाल सिंह सहोता के साथ रह रही है। यहां यह भी उल्लेखनीय है कि घर से दूर होने के बावजूद सहोता परिवार का संपर्क आज भी होशियारपुर के साथ बनी हुई है।

गढ़दीवाला की बेटी अंजू ढिल्लन भी बनी सांसद
होशियारपुर के ही एक और बेटी अंजू ढिल्लन गढ़दीवाला से 7 किलोमीटर दूर गांव दारापुर धर्मकोट के रहने वाले हरदीप सिंह ढिल्लन की बेटी है। हरदीप सिंह का परिवार 1978 के करीब होशियारपुर से कनाडा जा बसे थे पर होशियारपुर से इस परिवार का संबंध आज भी बनी हुई है। 40 वर्षीय अंजू ढिल्लन कनाडा के ही मांट्रियल से वकालत की पढ़ाई कर इस समय क्यूबेक कोर्ट में वकालत कर रही है। लिबरल पार्टी ने अंजू पर भरोसा कर फ्रेंच मतदाता बहुल सीट डोरवल लसीन सीट से उन्हें टिकट दिया और अंजू ने लगातार दूसरी बार रिकार्ड मत से चुनाव जीत कनाडा में पंजाब व पंजाबियत का नाम रोशन कर दिखाई। 

ये हैं कनाडाई संसद में पहुंचने वाले 18 पंजाबी सांसद
सुख धालीवाल, हरजीत सिंह सज्जन, अंजू ढिल्लो, नवदीप सिंह बैंस, रुबी सहोता, वर्दिश चग्गर, जगमीत सिंह, जसराज सिंह, जग सहोता, बॉब सड़ोआ, गगन शिकंद, रणदीप सिंग सराईं, रामेश्वर सिंह संघा, मनिन्द्र सिंह सिद्घू, कमल खेड़ा, सोनिया सिद्घू, टीम उप्पल व राज सैनी। 


Mohit

Related News