बड़ी खबरः नवजोत सिद्धू नहीं मांगेंगे माफी, कैप्टन से तल्खी बरकरार

7/22/2021 9:49:20 AM

चंडीगढ़ (अश्वनी कुमार) : मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह और पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के बीच लड़ाई लंबी खिंच सकती है। सिद्धू खेमे ने बुधवार को स्पष्ट कर दिया है कि वह कैप्टन से माफी नहीं मांगेंगे। सिद्धू 23 जुलाई को चंडीगढ़ में ताजपोशी कार्यक्रम में अध्यक्ष के रूप में पद ग्रहण करेंगे।  इससे पहले मंगलवार को मुख्यमंत्री के सलाहकार ने दो टूक शब्दों में कहा था कि जब तक सिद्धू अभद्र टिप्पणियों के लिए सार्वजनिक तौर पर माफी नहीं मांग लेते, तब तक मुख्यमंत्री मुलाकात नहीं करेंगे।

इस पर पलटवार करते हुए सिद्धू के बेहद करीबी मंत्री सुखजिंद्र सिंह रंधावा ने मुख्यमंत्री को ही नसीहत देते हुए कहा कि पंजाब कांग्रेस में अनुशासन की जरूरत है और पार्टी में अनुशासन भंग करने वालों की कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री ने सिद्धू के सामने माफी की शर्त रख कर हाईकमान के फैसले को चैलेंज किया है। राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी और पंजाब प्रभारी हरीश रावत से बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री के मन में ऐसी कोई बात थी तो उन्हें रखनी चाहिए थी। मुख्यमंत्री को स्पष्ट करना चाहिए था कि वह सिद्धू से नहीं मिलेंगे, लेकिन उनके अध्यक्ष बनने पर कैप्टन को भी पार्टी का अनुशासन मानना पड़ेगा।

रंधावा ने कहा कि राहुल गांधी ने कहा है कि कांग्रेस में अनुशासन भंग करने वालों के लिए कोई जगह नहीं है। इसलिए वह कहना चाहते हैं कि हाईकमान के निर्णय पर सभी को साथ खड़ा होना होगा। वहीं पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर नवजोत सिद्धू द्वारा कार्यभार संभालने के लिए होने वाले ताजपोशी कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह को भी बुलाया जाएगा। अमृतसर में सिद्धू के घर विधायकों व मंत्रियों की बैठक में कार्यकारी अध्यक्ष कुलजीत नागरा को कहा गया कि वह खुद मुख्यमंत्री से बात कर कार्यक्रम में शामिल होने का अनुरोध कर उन्हें न्यौता दें। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Recommended News

static