संत रविदास मंदिर बनाना ही नहीं चाहती भाजपा: ‘आप’

9/20/2019 9:35:32 AM

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी ने भारतीय जनता पार्टी की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा है कि दिल्ली सरकार की बार-बार अपील के बाद भी केंद्र की ओर से मंदिर के लिए जमीन देने की प्रक्रिया शुरू नहीं की जा रही है। ‘आप’ के राज्यसभा सांसद संजय सिंह और दिल्ली के समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने मीडिया के साथ बात करते हुए कहा कि दिल्ली डिवैल्पमैंट अथॉरिटी (डी.डी.ए.) ने संत रविदास जी के मंदिर को तोड़ा, जिससे करोड़ों लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं।

समाज कल्याण मंत्री ने इस मामले पर प्रधानमंत्री को पत्र लिखा और मांग की कि डी.डी.ए. को मंदिर निर्माण के लिए जमीन आबंटित करने के निर्देश दिए जाएं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 11 सितम्बर को केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी को पत्र लिखा, लेकिन आज तक जवाब नहीं मिला। ‘आप’ सांसद ने कहा कि वह एक बार फिर केंद्रीय मंत्री को रा’यसभा के तीनों सदस्यों की ओर से पत्र लिख रहे हैं और उनसे मिलने का समय भी मांग रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह मसला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा है। केंद्र सरकार वहां भी इस मामले को उलझा रही है। इससे साफ है कि संत रविदास मंदिर के निर्माण को लेकर ‘आप’ बहानेबाजी कर रही है। 


डी.डी.ए. डी-नोटिफाई प्रस्ताव भेजे 
समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने कहा कि डी.डी.ए. इस जमीन को डी-नोटिफाई करने का प्रस्ताव दिल्ली सरकार के वन विभाग को भेजे तो उसके बाद वन विभाग इसे तुरंत केंद्र सरकार के पास भेज देगा। ऐसा करने में सिर्फ 2 दिन का समय लगेगा लेकिन केंद्र सरकार अब तक इस पर चुप्पी साधे बैठी है और दिल्ली सरकार की बार-बार अपील के बाद भी जमीन को डी-नोटिफाई करने का प्रस्ताव नहीं भेजा जा रहा है। इस मौके पर विधायक अजय दत्त ने कहा कि कोर्ट में डी.डी.ए. ने गलत तथ्य रखे थे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने साफ कर दिया है कि जमीन मिलते ही इस जगह पर भव्य मंदिर का निर्माण होगा पर मंदिर की जमीन नहीं दी गई।


Vatika

Related News