बी.एस.एफ. के अधिकारी बन सकते हैं पंजाब की जेलों के सुपरिंटैंडैंट

9/21/2020 10:33:34 AM

लुधियाना(स्याल): पंजाब की सैंट्रल जेलों में अब बी.एस.एफ. के डिप्टी कमांडैंट स्तर के अधिकारी राज्य की जेलों के प्रतिनियुक्ति पर सुपरिंटैंडैंट तैनात हो सकते हैं। सरकार द्वारा भेजे मांग प्रस्ताव को हरी झंडी देते हुए बी.एस.एफ. (बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स) ने उन 7 अधिकारियों के नामों की सूची प्रमुख सचिव जेल विभाग को विचार-विमर्श के लिए भेजी है। अब जेल विभाग की कार्रवाई उपरांत इन्हें बुलाकर 7 सैंट्रल जेलों में तैनात किया जाएगा ताकि सुरक्षा व्यवस्था सुदृढ़ की जा सके। यह अधिकारी डैपुटेशन पर यहां आएंगे। वर्णनीय है कि अधिकांश जेलों में ग्रेड 2 अधिकारी जेल सुपरिंटैंडैंट का पद संभाले हुए हैं जबकि नियमानुसार ग्रेड 1 अधिकारी सुपरिंटैंडैंट तैनात होना चाहिए। 

ये हैं वे अफसर 
सैंट्रल जेलों में बतौर सुपरिंटैंडैंट सेवाएं देने की सूची में बी.एस.एफ. के डी.सी. (डिप्टी कमांडैंट) में अनुराग कुमार, परविद्र सिंह, सुरिन्द्र सिंह, राजिन्द्र सिंह हुंदल, जोगिन्द्र पाल, गुरनाम लाल व नवंग दंदूप नगी शामिल हैं। 

सुरक्षा व्यवस्था होगी सुदृढ़
जेलों में इस समय सुरक्षा व्यवस्था बुरी तरह चरमराई हुई है। सैंट्रल जेलों में आए दिन बंदियों में झगड़ा, नशा व मोबाइल फोन मिलना और कैदियों के फरार होने की कई घटनाएं हो रही हैं। लुधियाना सैंट्रल जेल का उदाहरण किसी से छिपा नहीं है। यहां लॉकडाऊन के बावजूद जेल के अंदर नशा फैंकने और बंदियों के पास से मोबाइल फोन मिलने का सिलसिला रुक नहीं रहा है। लेकिन अब बी.एस.एफ. के अफसरों द्वारा डैपुटेशन पर सैंट्रल जेलों सुपरिंटैंडैंट पद संभालने से उपरोक्त गतिविधियों पर अंकुश लगने की संभावना है।


Sunita sarangal

Related News