मीटर से छेड़छाड़ करने वालों के खिलाफ बिजली विभाग का एक्शन, वसूला लाखों का जुर्माना

punjabkesari.in Monday, May 16, 2022 - 08:42 PM (IST)

जालंधर (पुनीत): बिजली की बढ़ती मांग में चोरी अमह कारण बनकर सामने आ रहा है क्योंकि नियमों की पालना करने वाला उपभोक्ता अपनी आवश्यकताओं के अनुसार इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का उपयोग करते हैं जबिक इसके उलट बिजली चोरी करने वाले व्यक्ति जोरों से बिजली की बर्बादी करते हैं। इसी कारण बिजली की मांग बढ़ती जा रही है। विभाग के मुताबिक इस बार भीषण गर्मी के चलते बिजली चोरी के मामले कई गुना बढ़ गए हैं।
इस कारण विभाग ने चोरी रोकने पर ध्यान केंद्रित किया है। प्रवर्तन विभाग के साथ-साथ वितरण मंडल की टीमें अलग-अलग इलाकों में छापेमारी कर रही हैं। इसी कड़ी में उत्तर क्षेत्र जालंधर, कपूरथला, शहीद भगत सिंह नगर (नवांशहर), जालंधर और होशियारपुर सर्किल की टीमों ने विभिन्न माध्यमों से बिजली चोरी के 85 से अधिक मामले पकड़ लिए हैं और उन पर 32.42 लाख रुपए का जुर्माना लगाया जा रहा है।

अवकाश के बावजूद विभाग की ओर से की गई कार्रवाई में मीटर से छेड़छाड़ के 27 और सीधी कुंडी लगाने के 35 मामले दर्ज किए गए हैं। ओवरलोड सप्लाई के 23 मामले पकड़े जा रहे हैं। इसमें कई ऐसे उपभोक्ता भी शामिल हैं जो 1 किलोवाट लोड होने के बावजूद ए.सी. का इस्तेमाल कर रहे हैं। बिजली चोरी करने वाले उपभोक्ताओं पर करीब 28.97 लाख रुपए जबकि ओवरलोडेड उपभोक्ताओं पर 3.45 लाख रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा। अधिकारियों ने कहा कि अवकाश के बावजूद हुई कार्रवाई दौरान पकड़े गए मामलों में जुर्माने की सही राशि नहीं बन सकी लेकिन यह राशि 32.42 लाख रुपए से अधिक होगी। जुर्माने की सही राशि का पता सोमवार को कार्यालय खुलने के बाद चलेगा।

सी.एम ऑफिस मॉनिटरिंग व्हाट्सएप पर करें शिकायत
बिजली की समस्या विकराल होते ही सरकार ने बिजली चोरी को लेकर निर्देश जारी किए हैं। बिजली चोरी करने वाले दूसरे उपभोक्ताओं के लिए परेशानी का सबब बनते हैं। बिजली चोरी की जानकारी 096461-75770 पर दी जा सकती है। पता चला है कि इस नंबर पर मिलने वाली शिकायतों की निगरानी भी सी.एम. कार्यालय कर रहा है। उपभोक्ता अपने आसपास के क्षेत्र में बिजली गुल होने का वीडियो या फोटो भेज सकते हैं। जो उपभोक्ता फोन पर जानकारी देना चाहते हैं, वे पावरकॉम के कंट्रोल रूम नंबर 96461-16301 पर कॉल करके ऐसा कर सकते हैं। यह सूचना तुरंत प्रवर्तन विभाग को भेजी जाती है और तत्काल प्रभाव से कार्रवाई की जाती है।

बिजली चोरों के खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज : इंजीनियर रजती
नार्थ जोन इंफोर्समेंट के उप मुख्य अभियंता रजत शर्मा ने बताया कि बिजली चोरी के मामलों को पकड़ने के लिए कई टीमें गठित की गई हैं, जो अन्य कार्यों को लंबित रखते हुए छापेमारी को अहमियत दे रही हैं। श्रृंखला आंतरिक शहर के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों पर केंद्रित है। पिछले कुछ दिनों में विभाग को बड़ी सफलता मिली है। उन्होंने कहा कि चोरी के ऐसे मामलों में विद्युत अधिनियम, 2003 की धारा 135 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है, जिसमें 3 साल की सजा का प्रावधान है।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kamini

Related News

Recommended News