शराब मामले में सवालों के घेरे में सरकार, एक्साइज विभाग ने की बड़ी कार्रवाई

5/23/2020 5:08:07 PM

चंडीगढ़: शराब मामले पर पैदा हुए विवाद के बाद एक्साइज और टैक्सेशन विभाग भी सक्रिय हो गया है। शुक्रवार को अलग -अलग डिस्टिलरीज़ (शराब बनाने वाले स्थानों) पर बड़े स्तर पर छापे मारे गए विवाद के बाद डिपार्टमेंट ने 22 एक्साइज और टैक्सेशन अफसरों और 73 एक्साइज और टैक्सेशन इंस्पेक्टरों का तबादला भी कर दिया है। सरकार पर पटियाला में अवैध शराब बनाने वाली फैक्ट्री पकड़े जाने, मुख्य सचिव करन अवतार सिंह के बेटो की डिस्टिलरी में हिस्सेदारी होने पर कर्फ़्यू दौरान धड़ल्ले के साथ अवैध शराब की बिक्री की जांच का दबाव था। इस जांच में पूर्व कैबिनेट मंत्री और कपूरथला के विधायक राणा गुरजीत सिंह की डिस्टिलरी भी शामिल है। 

इसी का नतीजा है कि विभाग ने डिस्टिलरी में तैनात इंस्पेक्टर और आधिकारियों के तबादले भी कर दिए हैं। एक तरफ़ जहां कर्फ़्यू दौरान हुई शराब की अवैध बिक्री का मामला सरकार के लिए समस्या बन गया है, वही अकाली दल भी इस मामले पर सी. बी. आई. जांच की माँग कर रहा है। 

कांग्रेस पर भी इस को ले कर लगातार दबाव था। इस को देखते हुए आबकारी और टैक्सेशन विभाग की टीमों ने अमृतसर, तरनतारन, गुरदासपुर, पठानकोट, पटियाला और बठिंडा में स्थित डिस्टिलरीज़ की जांच की। शुक्रवार को आठ डिस्टिलरीज़ की जांच हुई, जबकि बाकी सात में से कुछ की एक दिन पहले हुई थी। हालांकि विभाग इस को एक रुटीन जांच बता रहा है। 


Edited By

Tania pathak

Related News