आयकर विभाग ने की छापामारी, लंबे समय से इन फर्मों पर थी पैनी नजर

punjabkesari.in Tuesday, Oct 26, 2021 - 03:25 PM (IST)

लुधियाना (सेठी): आयकर विभाग के जांच विंग की तरफ से बीते दिन महानगर के साइकिल कारोबारी पर की गई छापेमारी में एक कारोबारी से 1.60 करोड़ का लगभग कैश और कुछ ज्यूलरी बरामद की गई है, जिसका ब्योरा जल्द उक्त कारोबारी से विभाग द्वारा मांगा जाएगा। विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी मुताबिक विभाग उक्त सभी कारोबारियों को सम्मन भेज कर बुलाएगा और स्टेटमैंट रिकार्ड की जाएगी। इसके साथ छापेमारी दौरान बरामद अन्य दस्तावेजों को विभाग अच्छी तरह चैक करेगा और जांच शुरू करेगा।

यह भी पढ़ेंः राज्य में बी.एस.एफ. के मुद्दे को लेकर चन्नी सरकार ने लिया यह फैसला

अब तक की सब से बड़ी छापेमारी, मिली सिर्फ 1.60 करोड़ की नकदी
यह सोचने वाली बात है कि आयकर विभाग की 3 दिन लंबी चली छापेमारी जो खुद में ही एक रिकार्ड है। आज से पहले शायद ही लुधियाना में आयकर विभाग की इतनी लम्बी कार्यवाही चली है। उसमें भी सिर्फ 1.60 करोड़ की नकदी मिलना, कोई बड़ी बात नहीं क्योंकि आयकर विभाग ने जिन साइकिल कारोबारियों को टारगेट किया था, वह महानगर के जाने-माने नामों में शुमार होते हैं, जिनकी टर्न ओवर 100-500 करोड़ की है। उपरोक्त फर्म के सी.ए. और अकाऊंटैंट ने नकदी का ब्योरा देकर वापस हासिल कर ही लेना है तो फिर इतनी बड़ी रेड का क्या मतलब? क्या इस मिशन पर लगा सारा सरकारी खर्च पानी में बह गया? ऐसे कई सवालों के जवाब आयकर विभाग के लिए खड़े हो चुके हैं।

यह भी पढ़ेंः कैप्टन का विपक्ष को तीखा जवाब, अरुसा आलम की तस्वीरें शेयर कर कही बड़ी बातें

कारोबारी विभाग की कार्यवाही से नाखुश
आयकर विभाग की छापेमारी कारण महानगर का माहौल काफी गरमाया रहा, के साथ ही कई कारोबारी विभाग की इस कार्यवाही से नाखुश नजर आए। कारोबारियों का मानना है कि विभाग को त्योहारी सीजन में इस तरह की कार्यवाही नहीं करनी चाहिए थी और इसके साथ ही कोविड-19 महामारी कारण व्यापार पहले ही मंदी में चल रहा है, ऊपर से विभाग ने दोहरी मार मारी है।

यह भी पढ़ेंः कैबिनेट मीटिंग में बिजली बिलों को लेकर CM चन्नी कर सकते हैं नई घोषणा

लंबे समय से इन फर्मों पर थी विभाग की पैनी नजर
आयकर विभाग के इंटरनल सोर्स से मिली जानकारी मुताबिक साइकिल कारोबारियों ने कोरोना काल दौरान काफी चांदी कमाई है और यह सभी फर्मे तकरीबन एक्सपोर्ट करती हैं, जिस कारण विभाग पहले लंबे समय से इन फर्मों पर पैनी नजर रख रहा था। साथ ही उन्हें यह भी शक था कि यह 'कर' चोरी में शामिल है।

यह भी पढ़ेंः कृषि विभाग ने की छापेमारी, लाखों की कीटनाशक दवाइयां बरामद

इसी केस के संबंध में आगे वाली कार्यवाही हो सकती है चंडीगढ़ में
इसे दौरान जानकारी यह भी मिली है कि विभाग की आगे वाली कार्यवाही इसी केस के संबंध में चंडीगढ़ में होगी क्योंकि इन सभी फर्मों में से एक फर्म के सीधे तार चंडीगढ़ के साथ जुड़ते हैं। उक्त कारोबारी ने हाल ही में अपनी बेटी के विवाह का रिश्ता चंडीगढ़ के मशहूर फार्मासिस्ट व्यापार के साथ संबंध रखने वाले के साथ करवाया था, जिस कारण अब विभाग को संदेह है कि उक्त ने अपना सारा नाजायज धन चंडीगढ़ में छिपा कर रखा है, जिस पर जल्द ही कार्यवाही हो सकती है। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sunita sarangal

Related News

Recommended News