खुर्द-बुर्द हुई 60 किलो चूरा-पोस्त बनी रेलवे सुरक्षा एजेंसियों के गले की फांस

punjabkesari.in Friday, Apr 01, 2022 - 02:56 PM (IST)

लुधियाना (गौतम): कुछ दिन पहले नशा तस्करों की तरफ से ट्रेन से फैंकी हुई चूरा-पोस्त को खुर्द-बुर्द करने का मामला रेलवे सुरक्षा एजेंसियों के गले की फांस बनता जा रहा है। मामला संज्ञान में आने के बाद रेलवे सुरक्षा बल व जीआरपी के आला अधिकारी इस मामले को लेकर इंक्वायरी करने में जुटे हुए है। सभी अधिकारी अभी इस संबंध में कुछ भी कहने को तैयार नहीं है, अधिकारियों का कहना है कि अभी हमारे पास भी सुनी-सुनाई बात आई है, इस मामले को लेकर जांच की जा रही है, उसके बाद ही कुछ कहा जा सकता है जब कि सूत्रों का कहना है कि आरपीएफ के आला अधिकारियों ने लुधियाना रेलवे स्टेशन पर तैनात चार लोगों को फिरोजपुर स्टेशन के साथ अटैच कर दिया है ताकि मामले की इंक्वायरी की जा सके। हलाकि आरपीएफ के मुलाजिम इसे सुनी सुनाई बात कह कर मामले को सिरे से नकार रहे है। 
 
क्या था मामला 
18 मार्च को सुबह करीब 2 से 3 बजे के बीच पूजा एक्सप्रेस जैसे ही दिल्ली आऊटर पर गुरूद्वारा दु:ख निवारण के पास पहुंची तो ट्रेन की रफ्तार कम होने पर किसी यात्री ने दो हरे रंग की गठरियां फैंकी। वहां पर दो सुरक्षा कर्मी तैनात थे जिन्होने इन गठिरयों को देख लिया। दूसरी तरफ इन गठरियों को उठाने के लिए जब कुछ लोग पहुंचे तो वह सुरक्षा कर्मियों को देख कर वहां से भाग निकले। चर्चा रही कि इन गठरियों में करीब 60 किलो चूरा पोस्त था। मौके पर तैनात सुरक्षा कर्मियों ने इस संबंध में डयूटी पर तैनात एक एएसआई को सूचित किया तो वह एक अन्य मुलाजिम को लेकर मौके पर आ गया। मौके का अधिकारी होने की बात कह कर एएसआई ने चूरा पोस्त अपने कब्जे में ले ली और अन्य लोगों का कहा कि इसे जीआरपी के हवाले कर कार्रवाई की जाएगी। 

यह भी पढ़ेंः विधानसभा के विशेष सत्र में BJP नेता ने उठाए सवाल, कहा- सरकार की मंशा पर शक

अगले दिन उसमें से कुछ सामान एक सुरक्षा कर्मी को दे दिया गया लेकिन उक्त सुरक्षा कर्मी बार-बार अपने अधिकारी से पूछता रहा कि मामले का क्या बना है जबकि अधिकारी उसे टालता रहा। जब उसे मामला खुर्द-बुर्द होने का शक हुआ तो उसने विरोध करना शुरू कर दिया और अपने साथियों से इस संबंध में बात करनी शुरू कर दी। सूत्रों की माने तो सुरक्षा कर्मी को शक था कि इन लोगों ने जीआरपी को सामान सुपुर्द करने की बजाए उसे बेच दिया है। बात फैलते-फैलते आला अफसरों के कान तक पहुंची जिस पर उन्होंने इंक्वायरी शुरू करते हुए लुधियाना रेलवे स्टेशन पर तैनात चार लोगों को वीरवार को फिरोजपुर हैड आफिस में तलब कर लिया

जीआरपी के पास पहुंचा मामला 
वीरवार को सुबह ही मामला जीआरपी के आला अधिकारियों के पास पहुंचा तो उन्होंने इस संबंध में स्थानीय अधिकारियों को मामले की जांच करने के लिए कहा जिस पर स्थानीय अधिकारियों ने भी अपने घोड़े दौड़ाने शुरू किए और इधर-उधर से पूछताछ करनी शुरू की लेकिन देर शाम तक भी उनके हाथ कुछ नहीं लगा । 

यह भी पढ़ेंः जानिए बढ़ रहे तापमान का गेहूं की फसल पर क्या होगा असर?

मामला आज ही ध्यान में आया है । पता चलते ही इसकी जांच शुरू की गई है। जिन आरपीएफ के मुलाजिमों के नाम सामने आए थे उन्हें आरपीएफ के आला अधिकारियों ने अपने पास इंक्वायरी के लिए बुलाया हुआ था। उनके आने के बाद ही पूछताछ से कोई बात सामने आ सकती है। फिलहाल मामले में कुछ भी नहीं कहा जा सकता क्योंकि अभी पुलिस के पास कोई ठोस सबूत नहीं है । 

इस मामले में बात सुनी सुनाई है। अधिकारियों से जो सूचना मिली थी कि उसके आधार पर इंक्वायरी के लिए चार लोगों को बुलाया गया है। मामले को लेकर डिपार्टमैंटल इंक्वायरी की जा रही है। कोई भी सबूत न होने के कारण अभी इस संबंध में कुछ भी नहीं कहा जा सकता। गहनता से जांच करने के बाद ही पूरी बात सामने आ सकती है। फिलहाल टीम गठित कर अन्य कर्मियों से भी पूछताछ की जाएगी। अगर कोई बात सामने आती है तो तथ्यों के आधार पर कार्रवाई होगी । 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News