लुधियाना ब्लास्ट मामले में खुलासा, घर से मिले लैपटॉप ने खोले कई राज

punjabkesari.in Wednesday, Dec 29, 2021 - 12:16 PM (IST)

लुधियाना (राज): लुधियाना कोर्ट कॉम्प्लेक्स में हुए बम धमाके की जांच करते हुए सुरक्षा एजेंसियां जर्मन तक पहुंच गई है। वहीं बम ब्लास्ट के 6 दिनों बाद भी सुरक्षा एजेंसियों ने अभी तक बाथरूम का मलबा नहीं हटवाया है। घटनास्थल को उसकी दिन सील कर दिया गया था। सोमवार को भी सुरक्षा एजेंसियों ने मौके पर पहुंच कर मलबे की जांच की थी, ताकि कोई और भी क्लू हाथ लग सके। हालांकि, वहां पर किसी और को जाने की इजाजत नहीं है।

घर से मिले लैपटॉप ने खोले कई राज
सुरक्षा एजेंसियों को गगन के घर पर एक लैपटॉप मिला था। एजेंसियों ने उन्हें पूरी तरह खंगाल लिया और उसके अंदर कई सुराग मिले थे। कई इंटरनेट कॉलिंग का पता चला था। हालांकि अभी किसी अधिकारी ने इसे स्पष्ट नहीं किया है।

यह भी पढ़ें: छोटी सी लापरवाही पड़ी इस परिवार को भारी, 3 बच्चों की हुई मौत

किसान आंदोलन में भी माहौल बिगाड़ने की रची थी साजिश
कृषि कानूनों को रद्द करवाने की मांग लेकर जब पंजाब के किसान दिल्ली में मोर्चा जमा कर बैठे हुए थे तब भी मुल्तानी, पन्नू और आई.एस.आई. के इशारे में किसान आंदोलन में भी माहौल बिगाड़ने की साजिश रच रहे थे। किसान आंदोलन के दौरान भी गुरपंतवत सिंह पन्नू का नाम सामने आया था और रेफरेंडम 2020 की नारेबाजी हुई थी। यह भी इनपुट थे कि आतंकी किसी किसान नेता को मार सकते हैं। इसके बाद दिल्ली पुलिस ने एक व्यक्ति को भी पकड़ा था। उससे यह सब पता चला था। उस व्यक्ति ने पूछताछ में मुल्तानी का भी नाम लिया था।

ब्लास्ट के बाद पन्नू की रिकॉर्डिंग वाले कॉल्स आने लगे थे पंजाब के लोगों को
23 दिसम्बर को कोर्ट कॉम्प्लेक्स में बम ब्लास्ट हुआ था। उसी दिन से सिख्स फॉर जस्टिस के गुरपतवंत सिंह पन्नू की आवाज वाली रिकार्डिंग के पंजाब के लोगों को कॉल्स आने लगे थे। जोकि विदेशी नंबर से आते थे। उसमें पंजाब के युवाओं को भड़काया जाता था और गलत काम के लिए उकसाया जाता था। एजेंसियों ने उक्त कॉल्स की भी जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें: लुधियाना बम ब्लास्ट मामला : 2 SHO और कांस्टेबल से पूछताछ जारी, हो सकते हैं बड़े खुलासे

ब्लास्ट साजिश में मुल्तानी के साथ रिंदा भी शामिल
सूत्रों के अनुसार एजेंसियों को जांच दौरान कई ऐसे सुराग हाथ लगे थे, जिससे सामने आ रहा था कि बम ब्लास्ट की साजिश में जसविंदर सिंह मुल्तानी के साथ हरविंदर सिंह उर्फ रिंदा भी शामिल था। रिंदा इस समय पाकिस्तान में बैठा है। इस पर भारत के अलग-अलग राज्यों में करीब 30 एफ.आई.आर. दर्ज है। रिंदा इंडिया का मोस्ट वांटेड अपराधी है, जोकि 2017 में पुलिस के हाथ से बच कर पाकिस्तान भाग गया था। वह पहले भी पंजाब में दहशत फैलाने की कई कोशिशें कर चुका है। इस समय रिंदा पाकिस्तान की एजेंसी आई.एस.आई. के इशारे पर काम कर रहा है।

रंजीत और सुखविंदर से पूछताछ जारी
जेल के अंदर गगन के सबसे नजदीक रहने वाले रंजीत और सुखविंदर सिंह से सी.आई.ए.-1 में लगातार पूछताछ जारी है। हालांकि एजेंसियों और पुलिस को बहुत कुछ पता चला है। लेकिन, इसमें अभी कोई बोलने के लिए तैयार नहीं है।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kalash

Related News

Recommended News