वाह री पुलिस! मोस्ट वांटेड Criminal घूमता रहा थाने में, SHO बोले - फरार है अभी

punjabkesari.in Tuesday, Jan 19, 2021 - 01:47 PM (IST)

लुधियाना (राज): सिविल अस्पताल की पार्किंग में कारिंदों के जरिए जबरन वसूली करवाने वाले पार्किंग ठेकेदार मिक्की साहनी को अभी तक पुलिस पकड़ नहीं पाई है। थाना पुलिस का कहना है कि आरोपी के घर पर रेड की थी, वह फरार चल रहा है। लेकिन, दूसरी तरफ मुख्य आरोपी मिक्की शहर में खुलेआम घूम रहा है।

सोमवार को आरोपी थाना कोतवाली में नजर आया जोकि काफी समय तक थाने के अंदर ही बैठा रहा। जबकि थाना डिवीजन नंबर-2 के एस.एच.ओ. सतपाल सिंह से इस बारे में जब बात की गई तो उनका कहना था कि आरोपी को पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है, एफ.आई.आर. दर्ज होने के बाद से ही आरोपी शहर से बाहर है। अब इसे क्या कहें? आरोपियों को पकड़ने का पुलिस का नैटवर्क फेल हो गया है, या पुलिस आरोपी को पकड़ना ही नहीं चाहती?

दरअसल, सोमवार की दोपहर को आरोपी मिक्की साहनी किसी अन्य मामले में थाना डिवीजन नंबर-1 (कोतवाली) में आया था। वह कई घंटे थाने के अंदर ही रहा। जबकि आरोपी मिक्की साहनी थाना डिवीजन नंबर-2 में दर्ज एफ.आई.आर. नंबर-07 (384 आई.पी.सी.) में पुलिस को वांटेड है। थाना डिवीजन नंबर 2 की पुलिस उसे पकड़ने के लिए औपचारिकता कर रही है। जबकि वह शहर में खुलेआम घूम रहा है। सूत्रों के मुताबिक कचहरी स्थित मल्टीस्टोरी पार्किंग में भी आरोपी अक्सर आता-जाता रहता है।

पंजाब केसरी में खबर प्रकाशित होने के बाद हुआ था स्टिंग
सिविल अस्पताल में हो रही जबरन वसूली की पंजाब केसरी ने 4 जनवरी को प्रमुख्ता से खबर प्रकाशित की थी। जिसके बाद ए.डी.सी.पी.-1 दीपक पारिक ने सच्चाई जानने के लिए अपने रीडर को आम आदमी बन स्टिंग करने के लिए भेजा था। जब रीडर बिना वर्दी के आम आदमी की तरह पार्किंग में अपना वाहन पार्क करने गया तो उससे कारिंदों ने तय रेट से ज्यादा पैसे वसूल लिए। जब रीडर ने रेट पूछा तो उल्टा कारिंदे उलझ पड़े थे। जिसके बाद मामला ए.डी.सी.पी. के ध्यान में लाया गया और तुरंत प्रभाव में पुलिस ने पार्किंग ठेकेदार मिक्की साहनी सहित 2 कारिंदों पर केस दर्ज कर लिया था।

दो कारिंदों को पकड़ पीठ थपथपा रही पुलिस
एफ.आई.आर. दर्ज होने के बाद पुलिस ने पहले एक कारिंदे अश्वनी और फिर दूसरे कारिंदे गोपी को पकड़ लिया था। कारिंदों ने पुलिस के आगे कबूला था कि वह पार्किंग ठेकेदार के कहने पर ही तय रेट से ज्यादा पैसे वसूलते है। इस संबंध में केस दर्ज हुए दस दिन हो गए, पुलिस मुख्य आरोपी मिक्की को पकड़ नहीं पाई है।

आरोपी से मिली हुुई है थाना डिवीजन नंबर 2 की पुलिस : शिकायतकर्त्ता
शिकायतकर्ता गुरमेल सिंह का कहना है कि मुख्य आरोपी पार्किंग ठेकेदार मिक्की साहनी को पकड़ने में पुलिस गंभीरता नहीं दिखा रही है। गुरमेल का आरोप है कि आरोपी के साथ कहीं न कहीं पुलिस की सांठ-गांठ है। इसलिए पुलिस आरोपी पर धोखाधड़ी की धाराएं भी नहीं जोड़ रही है। गुरमेल का कहना है कि वह मंगलवार को आरोपी का पार्किंग ठेका रद्द करवाने के लिए डी.सी. को शिकायत देगें और आरोपी की गिरफ्तारी के लिए सी.पी. से भी मिलेगें।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Tania pathak

Related News

Recommended News