मूसेवाला हत्याकांड: मंत्री हरजोत बैंस ने जेल में बंद शार्प शूटरों को लेकर किया अहम खुलासा

punjabkesari.in Monday, Oct 03, 2022 - 08:15 PM (IST)

जालंधर (नरिंदर मोहन): पंजाब के जेल मंत्री हरजोत बैंस ने  जेलों में गैंगस्टरों से मिलने वाले मोबाइल फोनों को लेकर अहम खुलासा किया है। उन्होंहने कहा कि सिद्धू मूसेवाला की हत्याकांड में शामिल लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के 3 मुख्य शार्प शूटर प्रियव्रत फौजी, कशिश और दीपक के पास जेलों में मोबाइल फोन कैसे पहुंचे और उन्होंने किन-किन लोगों से  सम्पर्क सादा था,  सरकार  इस पूरे मामले की जांच काम लगभग पूरा हो चुका है।  जेल मंत्री हरजोत बैंस ने कहा कि पिछली सरकारों में गैंगस्टर जेलों में बैठकर पिज्जा खाते थे, लेकिन अब उन्हें जेलों में हिलने तक नहीं दिया जाएगा।

सिद्धू मूसेवाला की हत्या के मामले में आरोपी और गैंगस्टर शार्प शूटर प्रियव्रत फौजी, कशिश और दीपक टीनू जेल में आने से 3 दिन पहले उसके लिए मोबाइल जेल पहुंचा था। तीनों गैंगस्टर कथित तौर पर जेल में से लोगों से बातचीत करते रहे। पंजाब के तरनतारन के गोइंदवाल साहिब सेंट्रल जेल में औचक चैकिंग के दौरान तीनों के पास से मोबाइल फोन और 2 सिम कार्ड भी बरामद किए गए। गैंगस्टर दीपक टीनू मानसा लाने के बाद पुलिस गिरफ्त से फरार हो गया था। जानकारी के मुताबिक, गैंगस्टर टीनू जेल में रहते हुए भी जेल से भागने की योजना बना रहा था। वह जेल में रोज लड़ाई-झगड़ा भी करता था ताकि उसकी चोटों लगे और इलाज के लिए उसे अस्पताल ले जाया जा सके व उसे भागने का मौका मिल सके। 

सूत्रों के मुताबिक, तीनों गैंगस्टर भागने की योजना बनाने और अन्य साथियों से संपर्क बनाने के लिए जेल में मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते रहे। अब पुलिस हत्या के तीनों आरोपियों के पास से बरामद मोबाइल फोन से की गई कॉलों का डंप डाटा जुटा रही है ताकि बात करने वालों की लोकेशन का पता चल सके। इस संबंध में राज्य के जेल मंत्री हरजोत सिंह बैंस से संपर्क किया गया और उन्होंने कहा कि बेशक जेलों में मोबाइल फोन पहुंच रहे हैं, लेकिन मोबाइल फोन चलने नहीं दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले 6 महीने में राज्य की जेलों से 3500 मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं।

 उन्होंने कहा कि सभी बंदियों की दिन में 2 से 3 बार तलाशी ली जाती है। जेलों में मोबाइल फोन के इस्तेमाल में कमी आई है। पहले की सरकारों में गैंगस्टर जेलों में पिज्जा खाते थे और आज गैंगस्टरों की बात करने वाले कांग्रेसी नेता जब जेल मंत्री होते थे तो जेल प्रशासन को गैंगस्टरों को विशेष जेलों में रखने की हिदायत देते थे, लेकिन अब पूरी सख्ती है, इसलिए गैंगस्टर जेल  अधिकारियों को धमकी दे रहे हैं। जेल में  सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में शामिल 3 मुख्य आरोपियों गैंगस्टर, शार्प शूटर प्रियव्रत फौजी, कशिश और दीपक के मोबाइल फोन मामले में मामले की जांच लगभग पूरी हो चुकी है, जल्द ही जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kamini

Related News

Recommended News