फेल साबित हुआ सरकार का स्कूलों को लेकर लिया फैसला, भीषण गर्मी के कारण बेहाल हुए बच्चे

punjabkesari.in Tuesday, May 17, 2022 - 12:45 PM (IST)

पटियाला (मनदीप सिंह जोसन): भीषण गर्मी के कारण स्कूलों में 15 मई से छुट्टियों का फैसला बेशक पंजाब सरकार ने कुछ लोगों के आगे घुटने टेक कर वापस ले लिया, परन्तु इस फैसले के वापस होने के साथ स्कूली बच्चों को नतीजे भुगतने पड़ रहे हैं। इस समय एक तो भीषण गर्मी और दूसरा सुबह 7 बजे स्कूल लगना छोटे बच्चों के लिए सजा साबित हो रहा है। इतना ही नहीं इस भीषण गर्मी के कारण ज्यादातर बच्चे स्कूलों में ही चक्कर खाकर गिर रहे हैं। कई बच्चों के सिर दर्द होने, पेट दर्द होने, बुखार चढ़ना या अन्य ऐसीं बीमारियों के शिकार होना आम देखा जा रहा है।

ऐसा इन स्कूली बच्चों को स्कूल में जाकर ही होता है। इसका मुख्य कारण भीषण गर्मी और क्लास रूम में बच्चों की ज्यादा गिनती होने के कारण अंदर हुमस भरा माहौल हो जाता है, जोकि छोटे बच्चों से सहन नहीं होता। कई स्कूलों जोकि शहर के अंदरूनी हिस्से में है, वहां खुली हवा नहीं लगती, इन स्कूलों में बच्चों की तबीयत ज्यादा खराब हो रही है।

पंजाब सरकार ने अब स्कूलों का समय भी सुबह 7 बजे कर दिया है। इसके साथ बच्चे को सुबह 5-6 बजे उठना पड़ता है, जबकि इतनी जल्दी उठा बच्चा सुबह होने के कारण नाश्ता भी नहीं करता। यह भी एक बड़ा कारण है कि भूखे पेट बच्चे बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। बेशक पंजाब सरकार ने भीषण गर्मी के कारण 15 मई से स्कूलों को छुट्टियां करने का फैसला कर लिया था लेकिन निजी स्कूलों की जिद्द के आगे सरकार को घुटने टेकने पड़े, जबकि जो कई बच्चें किसी-किसी वाहन द्वारा स्कूल में आते हैं, उनको तो स्कूल में सुबह 7 बजे पहुंचने के लिए भी और जल्दी उठना पड़ता है। इसलिए ऐसे हालातों में बच्चे पढ़ने की बजाए अन्य दिक्कतों का सामना कर रहे हैं।

क्लासों में ज्यादा बच्चे भी बड़ा कारण
यह भी पता चला है कि कई स्कूलों में क्लास रूम छोटे हैं तथा बच्चे ज्यादा हैं। दूसरी ओर स्कूल भी खुले और हवादार नहीं हैं, इस कारण भी बच्चों को ऐसे हालातों में से निकलना पड़ रहा है।

सरकार स्तर पर बात करेंगे : डी.ई.ओ.
इस संबंधी जिला शिक्षा अफसर (अ) इंजी. अमरजीत सिंह का कहना है कि उनके पास भी कुछ जुबानी शिकायतें आई हैं, जिसको लेकर सरकार स्तर पर बात करेंगे। उन्होंने कहा कि पढ़ाई के साथ-साथ बच्चों की जिंदगी भी जरूरी है, जिसको अनदेखा नहीं किया जा सकता।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kalash

Related News

Recommended News