CM की तारीफ करने वाले सिद्धू ने दिखाया अपना रंग, ट्वीट कर अलग-अलग मुद्दों पर घेरी ‘आप’ सरकार

punjabkesari.in Wednesday, May 18, 2022 - 01:09 PM (IST)

चंडीगढ़: बीते दिनों कांग्रेसी नेता नवजोत सिंह सिद्धू की तरफ से मुख्यमंत्री भगवंत मान के साथ मुलाकात की गई थी जिस दौरान उन्होंने मुख्य मंत्री की तारीफ की थी। मुख्यमंत्री भगवंत मान की तारीफ करने वाले नवजोत सिद्धू आज आम आदमी पार्टी की सरकार पर एक के बाद एक ट्वीट करके निशाना साध रहे हैं। नवजोत सिद्धू पंजाब सरकार को बिजली, किसान मुआवजे, एम.एस.पी. आदि के मुद्दों को लेकर घेर रहे हैं।

PunjabKesari

नवजोत सिद्धू ने पहला ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘‘आम आदमी पार्टी की पंजाब सरकार की तरफ से सिर्फ ऐलान...कोई मतलब नहीं। आप जितन चबा नहीं सकते, उससे अधिक काटते क्यों हो? गेहूं उत्पादक किसानों को बोनस देने का मुख्यमंत्री का वायदा कहां गया? क्या सरकार के पास वायदा किया गया बोनस देने के लिए 5000 करोड़ रुपए हैं? क्या सरकार के पास किसानों को 8 घंटे बिजली देने की सामर्थ्य है? दालें और मूंग की दाल पर MSP का नोटीफिकेशन अब तक क्यों नहीं किया गया?

PunjabKesari

एक अन्य ट्वीट में नवजोत ने लिखा कि ‘‘जब तक बाजार मजबूत नहीं होता, किसानों का धरना जारी रहेगा। पंजाब ओवरड्राफ्ट पर चल रहा है और बिना किसी नीति के बजट अलॉटमैंट के साथ किसानों का उत्थान नहीं कर सकता। वित्तीय संकट जितना बड़ा होगा, कानून व्यवस्था की स्थिति उतनी ही बिगड़ जाएगी। आज पंजाब केंद्र सरकार के रहमो-कर्म पर है।

PunjabKesari

एक और ट्वीट में नवजोत ने लिखा कि 'आपको मैं उन किसानों के साथ टकराव के रास्ते पर न जाने की अपील करता हैं जो हमारी आबादी का 60% हिस्सा हैं और पंजाब की आर्थिकता की रीढ़ की हड्डी हैं। किसानों के खिलाफ कभी भी किसी ने लड़ाई नहीं जीती। उनके मुद्दों को हल करो और आपकी 70% से अधिक समस्याएं दूर हो जाएंगी।

PunjabKesari

एक के बाद एक ट्वीट में नवजोत ने लिखा कि ‘‘ऐसा कोई वैज्ञानिक अध्ययन नहीं है जो साबित करता हो कि सीधी बिजवाई पानी की बचत करती है, इसलिए 80% किसानों के लिए सीधी बिजवाई संभव नहीं होगी जिन्होंने पराली बीच में जलाई है और 'पनीरी' भी बीज दी है। 18 और 10 जून में क्या फर्क है, यदि बिजली की समस्या है तो किसानों को सत्य बताओ।''

PunjabKesari

सिद्धू ने अगले ट्वीट में लिखा- सरकार को किसानों को 10 जून से धान की फसल बीजने की इजाजत देनी चाहिए क्योंकि देरी के साथ हुई फसल में नमी ज्यादा होती है जिस कारण कीमत कम हो जाती है। क्या पीक सीजन में बिजली बचाने के लिए सरकार ऐसा कर रही है? किसानों को हमेशा चिंता क्यों करनी पड़ती है? यदि सरकार विभिन्नता के लिए सचमुच गंभीर है तो इसने बासमती पर कम से कम समर्थन मूल्य का ऐलान क्यों नहीं किया?

PunjabKesari

किसानों के प्रदर्शन को लेकर नवजोत सिद्धू ने ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘‘मैं मिलने के लिए तैयार हूं परन्तु मुलाकात का विधि 'मुर्दाबाद' नहीं होना चाहिए। किसानों को प्रदर्शन करने का हक है। मैं भी किसान का पुत्र हैं, कृषि बारे मुझे भी पता है। एक वर्ष मेरा सहयोग तो दो मैं खेती के सभी घाटे पूरे कर दूंगा।’’

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News