टैक्सेशन कमिश्नर  ने राज्य  GST अधिकारियों के साथ की रिव्यू बैठक

punjabkesari.in Friday, Apr 29, 2022 - 09:45 PM (IST)

लुधियाना (सेठी): राज्य जी.एस.टी विभाग के टैक्सेशन कमिश्नर (पंजाब) आई.ए.एस कमल किशोर यादव ने महानगर अधिकारियों के साथ रिव्यू बैठक की। लुधियाना के सर्किट हाऊस में कराधान अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता करते हुए आई.ए.एस कमल किशोर यादव ने कहा कि यह समय की आवश्यकता है, कि राज्य के व्यापारियों को राहत दी जाए। इस दौरान मुख्य रूप से आला अधिकारी एडिशनल कमिश्नर ब्राह्मणीत कौर, एडिशनल कमिश्नर रवनीत सिंह खुराना, एडिशनल कमिश्नर - 1 अभिजीत कपलिश, डिप्टी कमिश्नर पंजाब हरसिमरत कौर उपस्थित रहे।  जबकि महानगर से डिप्टी कमिश्नर लुधियाना और 5 डिस्ट्रिक्ट के असिस्टेंट कमिश्नर, स्टेट टैक्स ऑफिसर, फतेहगढ़ साहिब से असिस्टेंट कमिश्नर बैठक के दौरन मौजूद रहे। इसमें ऑडिट विंग व मोबाइल विंग अधिकारी भी शामिल रहे। 

पंजाब केसरी के प्रतिनिधि से बातचीत करते हुए टैक्सेशन कमिश्नर ने बताया कि बैठक का मुख्य उद्देश्य महानगर व राज्य से अधिक से अधिक टैक्स कलेक्शन हैं, जिसके चलते आज तमाम डिस्ट्रिक्ट-वार्ड अनुसार टैक्स कलेक्शन का डाटा पूछा गया। टैक्सेशन कमिश्नर ने भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस नीति रहेगी और कहा कि इसमें लिप्त पाए जाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि करदाताओं की बिना परेशानी के सेवाएं प्रदान की जानी चाहिए।    

बैठक के दौरान टैक्सेशन कमिश्नर पंजाब द्वारा दिए निर्देश   
कमल किशोर यादव ने अधिकारियों को जून माह के अंत तक वैट और जी.एस.टी. के सभी लंबित मामलों को निपटाने के निर्देश दिए और वह व्यक्तिगत रूप से इसकी निगरानी करेंगे। उन्होंने कहा कि इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस दौरान यादव ने घोषणा की कि विभाग जल्द ही राज्य में फर्जी फर्मों के चल रहे नेटवर्क को जड़ से खत्म करने के लिए अभियान शुरू करेंगा। इसके साथ  ही अवैध रूप से जी. एस. टी चोरी करने वाले तथा जी.एस.टी अनुपालन न करने वालों पर सख़्ती से पेश आएगा। जो भी अधिकारी कर चोरों के साथ सम्मिलित या किसी भी प्रकार की भ्रष्टाचार करता पाया जाएगा तो उसपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

एक अन्य मुद्दे पर चर्चा करते हुए टैक्सेशन कमिश्नर ने कहा कि अधिकारियों को सितंबर माह के अंत असेसमेंट मामले को पूर्ण करना सुनिश्चित किया गया। उन्होंने कहा कि अधिकारी वित्तीय वर्ष के खत्म होने का इंतजार न करें बल्कि सितंबर के अंत तक इसे पूरा करें। विभाग जल्द ही प्रत्येक अधिकारी के लिए मासिक लक्ष्य निर्धारित करेगा ताकि असेसमेंट मामले जल्द पूरे किए जा सके। उन्होंने अधिकारियों को फील्ड विजिट को बढ़ाने के निर्देश दिए और कहा कि इससे विभाग को एक तरफ जमीनी हकीकत से परिचित होने और दूसरी तरफ कराधान से जुड़े मामलों को व्यवस्थित करने में मदद मिलती है। यादव ने कहा कि प्रत्येक अधिकारी को निरीक्षण करना आवश्यक है।

यादव ने यह भी कहा कि डीम्ड एप्रूव्ड आर.सी (नई जी.एस.टी रजिस्ट्रेशन) के लिए भी निरीक्षण तेज करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि जो भी अधिकारी फील्ड निरीक्षण में चुकेगा उस पर पर सख्ती की जाएगी। टैक्सेशन कमिश्नर ने स्पष्ट रूप से कहा कि कर चोरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। कर की चोरी से राज्य के खजाने को भारी नुकसान होता है जो बिल्कुल असहनीय है। अधिकारियों से कर सुधार के लिए नए विचारों का स्वागत करते हुए कराधान आयुक्त ने कहा कि कर वृद्धि के लिए नई- नई पहल की जानी चाहिए। विभाग राज्य स्तर पर भी अधिकारियों के नए और गतिशील विचारों को आगे रखेगा। यादव ने यह भी कहा कि राज्य में कर कलेक्शन को और बेहतर बनाने के लिए विभाग अथक प्रयास कर रहा है। कमल किशोर यादव ने सभी व्यापारियों से सरकार को अपना बकाया कर जमा करने की भी अपील की। उन्होंने कहा कि राज्य में विकास कार्यों के लिए इस कर का विवेकपूर्ण उपयोग किया जाता है जो करदाताओं को इस विकास का हिस्सा बनाता है। यह भी कहा कि करदाताओं के सहयोग के बिना राज्य के विकास के लक्ष्य को प्राप्त नहीं किया जा सकता।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kamini

Related News

Recommended News