विरोध वापस लेने की अपील को राजनीतिक मोड़ देना दुर्भाग्यपूर्ण - कैप्टन

9/14/2021 6:34:31 PM

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि काले कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों ने लोगों का दर्द समझने की बजाय उनकी बात को राजनीतिक मोड़ दिया है। पंजाब सरकार द्वारा उन्हें निरंतर समर्थन दिया जा रहा है। उनके बयान का बिलकुल भी वैसा मतलब नहीं था जिससे किसानों को ठेस पहुंचें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार के समर्थन के बावजूद किसानों ने उनकी अपील का गलत अर्थ निकाला और इसके बजाय इसे आगामी विधानसभा से जोड़ने का प्रयास किया। पंजाब में चुनाव उन्होंने कहा कि उनकी सरकार के साथ-साथ पंजाब के लोग भी कृषि कानूनों के मुद्दे पर हमेशा किसानों के साथ खड़े रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि  पंजाब और हरियाणा के किसानों को विभाजित करने की कोशिश करने का कोई सवाल ही नहीं है, जो सभी केंद्र और पड़ोसी राज्य में भाजपा सरकार से परेशान है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा कैप्टेन के बयान की कड़ी निंदा की गई थी।  

गौरतलब है कि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोमवार को किसानों से आग्रह किया कि वे केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब के बजाय दिल्ली की सीमाओं या हरियाणा में धरना-प्रदर्शन करें। सिंह ने किसानों से कहा कि पंजाब में 113 स्थानों पर चल रहे उनके आंदोलन से राज्य का आर्थिक विकास बाधित हो रहा है और इसलिए वे दिल्ली की सीमाओं पर जाकर केंद्र पर दबाव बनाएं। 

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tania pathak

Recommended News

static