कमिशनरेट पुलिस ने खतरनाक Gangster पंचम किया गिरफ्तार, बरामद किया ये सब

punjabkesari.in Saturday, May 28, 2022 - 10:53 AM (IST)

जालंधर (स.ह., महेश): गोपाल नगर में अकाली नेता सुभाष सोंधी के बेटे हिमांशु पर फायरिंग करने के मामले में वांछित पंचम नूर ने गोलीकांड के 43 दिनों के बाद पुुलिस समक्ष सरेंडर कर दिया है। सरेंडर करवाने के लिए ए.डी.सी.पी. इंवैस्टिगेशन गुरबाज सिंह की स्पैशल टीम ने पंचम के करीबी रिश्तेदारों पर दबाव बना रखा था जबकि पंचम को पकड़ने के लिए टीम लगातार अलग-अलग स्थानों पर रेड कर रही थी। पंचम से पुलिस ने 32 बोर का पिस्टल और गोलियां बरामद कर ली है। जिस पिस्तौल से हिमांशु पर फायरिंग की गई थी वह पुलिस पहले गिरफ्तार किए काका से बरामद कर चुकी है। पंचम से बरामद हुआ पिस्टल उसने सैल्फ डिफैंस के लिए रखा हुआ था।

पंचम को पुलिस ने सी.आई.ए. स्टाफ में रखा गया है। पुलिस उसे शनिवार को अदालत में पेश करके रिमांड पर लेगी। पुलिस गोली कांड में इस्तेमाल की गई पंचम की गाड़ी को भी जब्त करेगी। पूछताछ में पंचम ने बताया कि गोलीकांड के बाद वह सबसे पहले चंडीगढ़ गया। वहां से मंसूरी के लिए निकल गया और वहां कुछ दिन रह कर हरिद्वार, क्लीयर शरीफ और फिर मनाली चला गया। मनाली से वापस आते हुए वह मैक्लोड़गंज में रुका। वहां पर सी.आई.ए. स्टाफ की रेड हुई तो होटल के मैनेजर की मदद से पंचम भाग गया और वह गोवा चला गया। सी.आई.ए. स्टाफ की टीम पंचम को भगाने वाले मैनेजर को अपने साथ गिरफ्तार करके ले आई थी। पंचम की माने तो पुलिस से बचने के लिए वह गोवा में 4 से 5 दिन रह कर वह दिल्ली वापस आ गया। पंचम के गोवा जाने की खबर ए.डी.सी.पी. गुरबाज सिंह को मिल गई।

ऐसे में पुलिस ने पंचम का फिर ट्रैप लगाया लेकिन दिल्ली आने के बाद पंचम ग्वालियर स्थित अपने ससुराल घर चला गया। दिल्ली से बेरंग लौटने के बाद पुलिस ने फिर से पंचम पर दबाव बनाना शुरू कर दिया। पुुलिस ने पंचम के करीबी रिश्तेदार को उठा लिया उसके बाद से पंचम पुलिस के टच में आ गया और फिर उसे सरेंडर करना पड़ा। पुलिस के सामने उसने अपने 32 बोर की पिस्टल भी सौंप दी है। पुलिस उसके साथी पिंपू, अमन सेठी, मिर्जा व अन्यों के बारे पूछताछ कर रही है। शनिवार को पंचम का रिमांड हासिल किया जाएगा। हालांकि पंचम ने यह भी कहा कि उसके विरोधियों ने उसे फंसाने की कोशिश की है। हिमांशू पर उसने गोली नहीं चलाई। वह सिर्फ पिंपू की रंजिश के कारण मौके पर गया था लेकिन उसके किसी साथी ने फायरिंग कर दी है। बता दें कि 14 अप्रैल की रात को गोपाल नगर में अकाली नेता सुभाष सोंधी के बेटे हिमांशु सोंधी को पंचम गैंग ने घेर लिया था। हिमांशू की पिंपू और साहिल केला के साथ रंजिश थी जिसके चलते पंचम व उसके साथियों ने हिमांशु पर हमला कर दिया। हिमांशू जब बचाव के लिए भागा तो काका नाम के युवक ने फायरिंग कर दी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Related News

Recommended News