मरने के बाद भी महिला को नसीब नहीं हुई 2 गज जमीन

2/21/2020 3:05:24 PM

समाना: समाना के गांव स्याल कलां में ईसाई भाईचारे की बुजुर्ग महिला की मौत हो गई। पंचायत ने परिवार को शव दफनाने के लिए जमीन नहीं दी। महिला का शव सुबह से शाम तक घर में ही पड़ा रहा। इसके बाद तहसीलदार संदीप सिंह ने मामला सुलझाया।

जानकारी के अनुसार महिला स्वर्ण कौर ईसा मसीह की वीरवार सुबह मौत हो गई। महिला की उम्र करीब 80 साल थी। उसके पारिवारिक सदस्यों ने सरपंच से शव दफनाने के लिए पंचायत को जगह का इंतजाम करने के लिए कहा लेकिन सरपंच ने शव को शमशानघाट में लेकर जाने के लिए कहा। इस कारण गुस्से में आए ईसाई भाईचारे ने पंचायत और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। 

इसके बाद शाम को तहसीलदार संदीप सिंह ने मौके पर पहुंच कर मामला शांत करवाया और पुरानी जगह पर शव दफनाने की आज्ञा दी। इसके साथ ही पंचायत को कब्रिस्तान के लिए जमीन मुहैया करवाने के निर्देश दिए। ईसाई भाईचारा पहले पंचायत की 2 कनाल शामलात की जमीन को कब्रिस्तान के रूप में इस्तेमाल करता था परन्तु इस जमीन को लेकर पंचायत का रणजीत सिंह जमींदार के साथ केस चल रहा था, जिसे रणजीत सिंह हाईकोर्ट में जीत गया। 


Edited By

Sunita sarangal

Related News