बादलों को झटका, शेरपुर में ढींडसा के हक में आए अकाली नेता

1/18/2020 4:20:03 PM

शेरपुर (अनीश): राज्य सभा मैंबर सुखदेव सिंह ढींडसा व उनके सपुत्र परमिंदर सिंह ढींडसा द्वारा बादल परिवार विरुद्ध बगावत का झंडा उठाने के बाद जिला संगरूर और जिला बरनाला की सियासत में बड़ा भुचाल देखने को मिल रहा है और प्रतिदिन अकाली नेता बादल परिवार व ढींडसा परिवार के हक में मीटिंगें कर रहे है। 

गत दिवस शिरोमणी अकाली दल के हल्का इंचार्ज व पूर्व ससंदीय सचिव बलवीर सिंह घुन्नस ने 2 फरवरी को संगरूर में सुखबीर सिंह बादल के नेतृत्व में होने वाली रैली सबंधी की गई मीटिंग में ढींडसा परिवार पर हमला बोला था जिसके जवाब में आज भारी संख्या में ढींडसा समर्थकों द्वारा अकाली नेता वर्करों की मीटिंग की गई और बादल परिवार विरुद्ध हमला बोला गया। इस मौके सीनीयर अकाली नेता जत्थे. राजिंदर सिंह कांझला व रेलवे बोर्ड के पूर्व डायरैक्टर गुरमीत सिंह माहमदपुर ने कहा कि राज्य सभा मैंबर सुखदेव सिंह ढींउसा और पूर्व वित्त मंत्री परमिंदर सिंह ढींडसा को शिरोमणी अकाली दल में से मुअत्तल करने से पहले पंथ विरोधी कार्रवाईयां करने और डेरावाद का साथ देेने वालों को सुखबीर सिंह बादल द्वारा पार्टी में से निकालकर बाहर का रास्ता दिखाना चाहिए था। 

उन्होंने कहा कि सुखबीर सिंह बादल के नेतृत्व अधीन शिरोमणी अकाली दल का जो नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई करने के लिए अनेकों वर्ष लग जाएंगे। नेताओं ने कहा कि सुखबीर बादल की बुरी नीतियों के कारण शिरोमणी अकाली दल विधानसभा में विरोधी पक्ष में बैठने के काबिल भी नही रहा और सुखबीर सिंह बादल की अध्यक्षता के समय अनुसार जो श्री गुरू ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी, नशों का प्रसार और सौदा साध को माफी आदि पंथ विरोधी कार्य लोग कभी नही भुलेंगे। उक्त नेताओं ने कहा कि वह लोगो के दुख-सुख के भागीदार ढींडसा परिवार का डटकर साथ देंगे और भविष्य में ढींडसा परिवार जो भी राजनीतिक फैसला लेंगा, उस फैसल को ही माना जाएगा। 


 


Mohit

Related News