लुधियाना ब्लास्ट मामले में हुआ एक और खुलासा, 4 महीने पहले रची गई थी साजिश

punjabkesari.in Thursday, Dec 30, 2021 - 11:26 AM (IST)

तरनतारन (रमन): 30 अगस्त जन्माष्टमी पर्व पर गिरफ्तार किए गए आतंकवादी से जो चीन निर्मित 2 हैंड ग्रेनेड व अन्य सामान बरामद किया गए था, उन हैंड ग्रेनेड का उपयोग पंजाब को दहलाने के लिए किया जाना था। गिरफ्तार आतंकवादी को जर्मनी में बैठे लुधियाना बम धमाके के मास्टरमाइंड जसविंदर सिंह मुल्तानी द्वारा डॉलर की पेशगी रकम ट्रांसफर कर दी गई थी, बाकी राशि काम होने के बाद भेजे जाने का विश्वास दिया गया था। सरूप सिंह ने खुलासा किया कि लुधियाना को दहलाने की साजिश 4 माह पहले ही रच ली गई थी।

सरूप सिंह पुत्र गुरदेव सिंह निवासी जौहल ढाए वाला जिला तरनतारन को थाना सिटी तरनतारन की पुलिस द्वारा बीती 30 अगस्त की रात करीब 11 बजे अमृतसर-हरीके रोड पर स्थित गांव कक्का कंडियाला में गिरफ्तार किया गया था। उससे पी.86 मार्कर के 2 हैंड ग्रेनेड 1300 रुपए की भारतीय करंसी,1 ड्राइविंग लाइसेंस आधार कार्ड, मोबाइल 1 मोटरसाइकिल बरामद हुई थी।

यह भी पढ़ें : कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर ओ.पी. सोनी ने दिए यह आदेश

गिरफ्तार सरूप सिंह ने पुलिस पूछताछ में यह खुलासा किया कि वह सोशल मीडिया में विदेश आधारित आतंकवादी संचालकों के संपर्क में आया था जिन्होंने उसे कट्टरपंथी बनाया व पंजाब को दहलाने के लिए आतंकवादी गतिविधि को अंजाम देने के लिए प्रेरित किया। विदेशी संचालकों ने उसके लिए 2 हैंड ग्रेनेड की खेप का इंतजाम किया। इसके उपयोग के लिए वह पहले ही अमृतसर लुधियाना में कुछ संवेदनशील स्थानों की रेकी कर चुका था। पुलिस जांच में आरोपी के मोबाइल में से उसके विदेशी संचालकों की तरफ से हैंड ग्रेनेड को सफलतापूर्वक विस्फोट करने से संबंधित वीडियो भी बरामद किया गया। 1 थाना सिटी पुलिस द्वारा अदालत से हासिल किए गए 7 दिनों के रिमांड में पूछताल में यह बात साबित हो गई कि जर्मनी में बैठे लुधियाना बम धमाके के मास्टरमाइंड जसविंदर सिंह मुल्तानी द्वारा आतंकवादी सरूप सिंह को नेशनल हाईवे 54 पर स्थित वैस्टर्न यूनियन मनी ट्रांसफर जरिए डॉलर भेजे गए थे।

बीती 8 अगस्त को अमृतसर ग्रामीण पुलिस ने लोपोके गांव दल्लेके से टिफिन बम के साथ साथ उपरोक्त मार्कर से मिलते 5 हैंड ग्रेनेड बरामद किए थे। स्टेट स्पेशल ऑप्रेशन सैल अमृतसर द्वारा भी 16 अगस्त को अमृतपाल सिंह व शम्मी से और हथियारों सहित उपरोक्त मार्कर व मॉडल (पी. (86) के 2 हैंड ग्रेनेड बरामद किए गए थे। इसी तरह कपूरथला पुलिस ने फगवाड़ा से गुरमुख सिंह बराड़ व उसके साथी से 2 हैंड ग्रेनेड 1 जिंदा टिफिन बम व अन्य विस्फोटक सामग्री बरामद की गई थी। ये सभी खेपें सरहद पार आतंकवादी संगठनों की तरफ से पंजाब में आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देने के लिए भेजी जा रही थी।

यह भी पढ़ें : कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर ओ.पी. सोनी ने दिए यह आदेश

पुलिस पूछताछ में जसविंदर सिंह मुल्तानी का नाम सामने आने के बावजूद उसके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया। उधर, एस.एस.पी. हरविंदर सिंह विर्क ने बताया कि जसविंदर सिंह मुल्तानी को बरामद किए गए बम मामले में नामजद नहीं किया गया। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kalash

Related News

Recommended News