गोपाल नगर गोलीकांड में बड़ा खुलासा, इस गैंग किया था हमला

punjabkesari.in Saturday, Apr 16, 2022 - 02:51 PM (IST)

जालंधर : गोपाल नगर में अकाली नेता सुभाष सोंधी के बेटे हिमांशु पर गोली चलाने वाला पंचम गैंग है और पंचम खुद भी मौके पर मौजूद था। पुलिस जांच में यह बात सामने आई है कि पिंपू नाम के फाइनेंसर ने कालेज के समय पनपी रंजिश निकालने के लिए पंचम व उसके साथियों ने हिमांशु को सबक सिखाने के लिए बुलाया था जबकि उसका ट्रैप भी पिंपू लगा रहा था। पिंपू खुद भी पंचम गैंग का सदस्य है। पुलिस ने पंचम, पिंपू समेत 5 लोगों के खिलाफ हत्या के प्रयास में केस दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है। इस केस में कुछ अज्ञात लोगों को भी आरोपी बनाया गया है। गोली अवैध पिस्टल से ही चलाई गई थी।

पुलिस को दी शिकायत में हिमांशु पुत्र सुभाष सोंधी निवासी गुरदेव नगर दाना मंडी ने बताया कि वह खुद भी यूथ अकाली दल का प्रधान रहा है। कालेज के समय में उसका पिंपू पुत्र बलराज निवासी शहीद बाबू लाभ सिंह नगर और निखिल उर्फ साहिल निवासी रस्ता मोहल्ला के साथ विवाद हुआ था। तब भी उन्होंने उससे मारपीट की थी लेकिन माफी मांगने पर राजीनामा हो गया था। उसके बाद हिमांशु स्टडी वीजा पर इंगलैंड चला गया। दादा की मौत हो जाने के कारण फरवरी 2021 को वह वापस आ गया और तब से यहीं रह रहा है।

हिमांशु ने बताया वीरवार को घर में गैस्ट आए हुए थे। वह आईस्क्रीम लेने के लिए प्रकाश आईसक्रीम पॉर्लर गया था। वहां पर देखा तो पिंपू और मिर्जा खड़े थे जबकि उनके नजदीक ही खड़ी 2 गाड़ियों में पंचम, निखिल, अमन सेठी निवासी दादा कालोनी बैठे थे।

जैसे ही हिमांशु उनके नजदीक आया तो उन्होंने धमकाना शुरू कर दिया। उनके हाथ में बेसबैट थे जैसे ही उन्होंने हमला किया तो खुद का बचाव करने के लिए वह आईस्क्रीम पॉर्लर के साथ वाली गली में भागा। सभी युवक उसके पीछे गली में भागे। इसी बीच किसी ने उसे जान से मारने की नीयत से 2 फायर कर दिए। गोली हिमांशु को तो नहीं लगी लेकिन वहां से अपनी छोटी बच्ची और पत्नी के साथ घर लौट रहे हरमेल सिंह पुत्र बलजीत सिंह निवासी तोबड़ी मोहल्ला टांडा रोड की टांग में लग गई। हिमांशु का बचाव हो गया था जो अपने चाचा धमेंद्र सोधी के घर छिप गया। वहां से उसके चाचा ने उसे घर सुरक्षित पहुंचाया जिसके बाद थाना 2 की पुलिस को सूचना दी गई।

वहीं मौके पर पुलिस कमिश्नर गुरप्रीत सिंह तूर व अन्य पुलिस अधिकारी भी पहुंच गए थे। वहीं पर लगे सी.सी.टी.वी. कैमरों की मदद से आरोपियों की पहचान कर ली गई। कैमरे में पंचम गाड़ी की अगली सीट पर बैठा साफ दिखाई दिया। देर रात थाना 2 की पुलिस ने पिंपू, पंचम, निखिल उर्फ साहिल केला, अमन सेठी, मिर्जा व 3 से 4 अज्ञात हमलावरों खिलाफ धारा 307, 148,149, 25, 27 आर्म्स एक्ट अधीन केस दर्ज कर लिया था। सी.पी. ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए अलग-अलग टीमें बनाई हुई है। थाना 2 के एस.आई. नरिंदर कुमार का कहना है कि आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी होगी।

सी.आई.ए. स्टाफ की टीमें भी कर रही रेड
पंचम नूर और उसके साथियों को पकड़ने के लिए सी.आई.ए. स्टाफ 1 की टीमें भी रेड कर रही है। सी.आई.ए. स्टाफ को पंचम का मोबाइल नंबर भी मिला जिस पर सिर्फ इंटरनेट के जरिए ही बात हो सकती है लेकिन वह मोबाइल कुछ समय बाद बंद हो गया। पुलिस ने घटनास्थल से डंप डाटा भी उठवाया है ताकि आरोपियों की लोकेशन का पता चल सके। पंचम के पास काफी समय से अवैध असला है। हालांकि सी.आई.ए. स्टाफ के इंचार्ज भगवंत सिंह ने सी.सी.टी.वी. फुटेज देख कर देर रात ही आरोपियों की पहचान करके उनके घरों पर दबिश देनी शुरू कर दी थी लेकिन तब तक सभी आरोपी अंडरग्राऊंड हो चुके थे।

पहले टल गया था शहर में गैंगवार
पंचम का नाम शुरू से ही विवादों में रहा है। हालांकि पिछले एक साल से पंचम की तरफ से कोई गतिविधि नहीं हुई परंतु कुछ समय पहले पंचम और फतेह गैंग में गैंगवार होने से टल गया था। दोनों ग्रुपों ने एक-दूसरे को गुरु नानक मिशन चौक पर आने का समय दिया था। अब फतेह तो जेल में है लेकिन फतेह व उसके साथियों के पास भी तब वैपन थे। हालांकि किसी कारण वंश दोनों ग्रुप एक-दूसरे के आमने सामने नहीं हो पाए थे जिस कारण गैंगवार नहीं हुआ था।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kalash

Related News

Recommended News