कैप्टन उप-चुनाव में नए चेहरे उतारेंगे, कांग्रेस हाईकमान को सिंगल नामों का पैनल भेजेंगे

9/22/2019 9:29:26 AM

जालंधर(धवन): केन्द्रीय चुनाव आयोग द्वारा पंजाब में 4 विधानसभा सीटों दाखा, फगवाड़ा, जलालाबाद तथा मुकेरियां के लिए उप-चुनाव का ऐलान कर देने के बाद अब कांग्रेस में टिकट पाने को लेकर सियासी गतिविधियां तेज हो गई हैं। चारों उप-चुनावों को लेकर कांग्रेसी उम्मीदवारों के चयन की जिम्मेदारी पूरी तरह से पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह के कंधों पर रहनी है।  मुख्यमंत्री के निकटवर्ती सूत्रों से पता चला है कि कैप्टन अमरेन्द्र सिंह उप-चुनाव में इस बार नए चेहरों को आगे लाने के पक्ष में हैं तथा इस संबंध में उन्होंने उप-चुनाव वाली प्रत्येक विधानसभा सीट को लेकर अपना हिसाब पहले ही लगाया हुआ है। 

उन्होंने पहले ही इन चारों विधानसभा क्षेत्रों में अपने विश्वस्त मंत्रियों की ड्यूटियां लगा दी थीं तथा पिछले 15-20 दिनों से मंत्रियों द्वारा लगातार इन विधानसभा सीटों के दौरे किए जा रहे थे। कैप्टन का मानना है कि चूंकि पुराने दावेदारों की तुलना में  नए चेहरे बेहतर कारगर सिद्ध हो सकते हैं। इसीलिए कांग्रेस में माना जा रहा है कि लगभग 2-3 सीटों पर कैप्टन नए चेहरों को आगे लाएंगे। मुख्यमंत्री की ओर से चुनाव लडऩे के इच्छुक कुछ नेताओं से बातचीत भी की गई। सारा फीडबैक लेने के बाद वह जल्द ही पंजाब कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुनील जाखड़ तथा पंजाब कांग्रेस मामलों की प्रभारी आशा कुमारी से मिल कर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को सिंगल सिंगल नामों का पैनल बनाकर मंजूरी के लिए भेजेंगे। जहां तक मुकेरियां विधानसभा सीट का प्रश्र है, वहां पर मुख्यमंत्री कांग्रेस के स्व. विधायक रजनीश बब्बी जोकि स्व. डा. केवल कृष्ण के पुत्र थे, की पत्नी या पुत्र में से एक को चुनावी मैदान में उतारने का मन बना चुके हैं। इन विधानसभा सीटों पर उप-चुनाव भी 21 अक्तूबर को करवाया जाना है। उप-चुनाव का ऐलान होने के बाद टिकट के चाहवान कांग्रेसी नेता अब कैप्टन के साथ संपर्क कायम करने में जुट गए हैं। 

कैप्टन ने उप-चुनावों में कांग्रेस की जीत पर भरोसा जताया
 
 पंजाब के मुख्यमंत्री कै. अमरेन्द्र सिंह ने भरोसा व्यक्त किया  कि कांग्रेस 21 अक्तूबर को होने जा रहे चारों विधानसभा सीटों के उप-चुनावों को जनता के सहयोग से आसानी से जीत लेगी। उन्होंने आज एक बयान में कहा कि कांग्रेस उप-चुनावों का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार है तथा इन चुनावों में सरकार के प्रगतिशील व कल्याणकारी कार्यक्रमों को लेकर चुनावी मैदान में उतरा जाएगा।  मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में विपक्ष पूरी तरह से बिखरा हुआ है, क्योंकि आम आदमी पार्टी दो-तीन हिस्सों में विभाजित हो चुकी है तथा अकाली दल को जनता पुन: मुंह लगाने को तैयार नहीं है।  उप-चुनावों में एक बार फिर से फतवा कांग्रेस सरकार को मिलेगा, क्योंकि कांग्रेस सरकार अपने कार्यकाल का आधा सफर पूरा कर चुकी है। लोकसभा चुनाव में जनता ने पहले ही विपक्षी पाॢटयों की विभाजनकारी व नकारात्मक राजनीति को ठुकरा दिया था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने पिछले दिनों में राज्य में नशों पर रोक लगाने, किसानों का कर्जा माफ करने तथा उद्यमियों को 5 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली देने के चुनावी वायदों को पूरा किया है तथा अब नौजवानों को दिसम्बर महीने से स्मार्ट फोन देने का कार्य शुरू किया जा रहा है। इन सभी कार्यक्रमों का जनता में एक सकारात्मक संकेत गया है।


swetha

Related News