नगर कौंसिल के कर्मचारियों ने डिप्टी कमिश्नर व एस.डी.एम. को लगाई गुहार

punjabkesari.in Wednesday, Feb 09, 2022 - 02:15 PM (IST)

तरनतारन (रमन‌): लाखों रुपए की आमदन करने वाले स्थानीय शहर के नगर कौंसिल की तरफ से अपने पक्के कर्मचारियों को पिछले 5 महीने से तनख्वाह न देने कारण कर्मचारियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जिक्रयोग्य है कि नगर कौंसिल के खाते में 25 लाख रुपए से अधिक राशि होने के बावजूद उनको तनख्वाह न देना कई तरह के सवाल पैदा कर रहा है। इस परेशानी के तुरंत हल के लिए समूह कर्मचारियों ने जिलों के डिप्टी कमिश्नर और एस.डी.एम. से पुरजोर मांग की है।

यह भी पढ़ेंः पंजाब विधानसभा चुनावः तीन पूर्व लोकल बॉडीज मंत्री और 2 के बेटे लड़ रहे चुनाव

स्थानीय नगर कौंसिल जिसको रोजमर्रा की जी.एस.टी., प्रॉपर्टी टैक्स, एन.ओ.सी., वाटर सप्लाई, सीवरेज आदि कई ओर कामों से लाखों रुपए की आमदनी होती है। नगर कौंसिल की तरफ से अपने एक दर्जन के करीब कर्मचारियों को पिछले 5 महीनों से बनती तनख्वाह नहीं दी जा रही, जिस कारण कर्मचारियों की तरफ से अपने परिवारों का पेट पालना मुश्किल हो गया है। स्थानीय नगर कौंसिल में तैनात कर्मचारियों ने अपना नाम न बताने की शर्त पर जानकारी देते हुए कहा कि हर कर्मचारी अपने परिवार के पालन-पोषण के लिए नौकरी करता है। अगर उस कर्मचारी को हर महीने समय पर तनख्वाह न मिले तो उसका गुजारा किस तरह होगा।

यह भी पढ़ेंः पंजाब विधान सभा चुनावः आइए जानिए भाजपा गठजोड़ का 11 सूत्रीय एजेंडा

उन्होंने बताया कि तनख्वाह न मिलने कारण उनको ब्याज पर पैसे लेने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है जिससे अपने परिवार का गुजारा कर सकें और बच्चों की पढ़ाई का खर्चा कर सकें। नगर कौंसिल की तरफ से सफाई कर्मचारियों को पिछले एक महीने से तनख्वाह नहीं दी गई, जिस कारण कर्मचारियों में भारी रोष पाया जा रहा है। जिक्रयोग्य है कि कार्यसाधक अफसर से जब समूह कर्मचारियों ने अपनी बनती तनख्वाह मांगी तो उन्होंने चैक बुक न होने की बात कह दी। इस बाबत समूह कर्मचारियों ने नगर कौंसिल के जिले के डिप्टी कमिश्नर, एस.डी.एम., कार्यसाधक अफसर से पुरजोर मांग करते हुए अपील की है कि उनको बनती तनख्वाह जारी की जाए।

यह भी पढ़ेंः एक बार फिर चर्चा का विषय बने सोनू सूद, सड़क हादसे में घायल युवक की ऐसे बचाई जान

एन.ओ.सी. न मिलने कारण पिछले 2 महीने से लोग हो रहे परेशान
सथानीय नगर कौंसिल की तरफ से पिछले करीब 2 महीनों से एन.ओ.सी. सम्बन्धित मिलीं अर्जियों को वसूल करते हुए न ही विनयकार को एन.ओ.सी. दी गई है और न ही उनको कोई सन्तोषजनक जवाब दिया जा रहा है, जिस कारण लोगों को दफ्तर में आकर अपमानित होना पड़ रहा है। नगर कौंसिल की तरफ से एन.ओ.सी. जारी न करने कारण लोगों की करोड़ों रुपए की रजिस्ट्रियां रुकें होने के कारण परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस बाबत रोजमर्रा की नगर कौंसिल के दफ्तर अंदर चक्कर लगाने वाले लोगों ने जिले के डिप्टी कमिश्नर से मांग की है कि उनकी इस समस्या को तुरंत हल किया जाए।

यह भी पढ़ेंः गृह मंत्री रंधावा ने दिया कैप्टन व ई.डी. की कार्यवाहियों का जवाब

इस सम्बन्धित एस.डी.एम.-कम-रिटर्निंग अफसर रजनीश अरोड़ा ने बताया कि नगर कौंसिल के बैंक खातों में 25 लाख रुपए से अधिक राशि मौजूद है और रुपए की कोई भी कमी नहीं है। उन्होंने हैरान होते हुए बताया कि कर्मचारियों को पिछले 5 महीनों से तनख्वाह न मिलने सम्बन्धित मामला उनके ध्यान में नहीं है। उन्होंने विश्वास देते हुए बताया कि कार्यसाधक अफसर शरणजीत कौर को तुरंत तनख्वाहें जारी करने के आदेश दे दिए गए हैं। तनख्वाह देने में अगर कोई देरी हुई तो उस कर्मचारी खिलाफ कार्यवाही के लिए लिखित रूप में विभाग को भेजा जाएगा।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News