Pics: सबसे कम उम्र के किसान की मौत पर रोया पूरा गांव, बहनों ने सेहरा सजा दी यूं अंतिम विदाई

2/27/2021 2:59:30 PM

नाभा: केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों द्वारा दिल्ली की सरहदों पर पिछले तीन महीनों से आंदोलन जारी है। इस दौरान लगातार शहादतों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रहा है, जिसके तहत गत दिवस नाभा ब्लाक के गांव खेड़ी जट्टा के 18 वर्षीय नौजवान नवजोत सिंह की सिंघु बॉर्डर पर दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी। आज उसकी मृतक देह गांव लाई गई और सेहरा सजाकर उसे अंतिम विदाई दी गई। 

PunjabKesari

4 दिन पहले ही दोस्तों के साथ गया था दिल्ली
सिंघु बॉर्डर पर नवजोत सिंह(18) हंसता हुआ किसानी आंदोलन में आज से 4 दिन पहले अपने 5 किसान दोस्तों के साथ गया था लेकिन यह किसी को नहीं पता था कि किसान नवजोत सिंह अब घर तो लौटेगा या नहीं। अंतिम संस्कार के मौके पर जहां दूर -दूर से बड़ी संख्या में किसान नेता उमड़े वहीं इकलौते बेटे को देखकर माता -पिता का रो-रो कर बुरा हाल था, क्योंकि जिस पुत्र ने उनके बुढ़ापे का सहारा बनना था और पढ़-लिखकर जिस बच्चे को बड़े स्थान पर पहुंचाना था वह सपने माता -पिता के चकनाचूर हो गए थे। 

PunjabKesari

कलाई पर राखी बांध और सिर पर सेहरा सजाकर दी अंतिम विदाई
नवजोत सिंह के अंतिम रस्मों के मौके जहां उसके हाथ की कलाई पर राखी बांधी गई वहीं उसका सेहरा भी सजाया गया। इस मौके पर किसानी संघर्ष के साथ जाने वाले किसान नौजवान ने कहा  वहां अचानक दिल का दौरा पड़ने के कारण उसकी मौत हो गई और क्योंकि वहां गर्मी भी बहुत है। इस मौके पर किसान संघर्ष मोर्चे के नेता ने कहा कि लगातार जो शहादतें हो रही हैं यह बहुत ही निंदनीय है क्योंकि यह अब तक का सबसे छोटी उम्र का बच्चा था, जिसने शहादत दी है लेकिन हम इस शहादत को जाया नहीं जाने देंगे क्योंकि यह हम जंग ज़रूर जीत कर आएंगे।

PunjabKesari
 


Content Writer

Vatika

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static