घरों में काम कर मां ने अपनी बेटी को बनाया नेशनल गोल्ड मेडलिस्ट, अब नौकरी के लिए खा रही ठोकरे

8/12/2020 1:36:00 PM

संगरूर (हनी कोहली): एक तरफ जहां सरकार की तरफ से कहा जाता है कि नशों से दूर रहो और अपने आप को तंदरुस्त रखने के लिए खेल की तरफ ध्यान दो, वही एक मामला संगरूर का सामने आया है, जहाँ एक लड़की (बलजीत कौर) की उम्र 18 साल है और वह इस उम्र में नेशनल स्तर पर साईकलिंग कर सबका नाम रोशन कर रही है और पंजाब में चार बार गोल्ड मैडल हासिल चुकी है परन्तु उसके बावजूद भी सरकार की तरफ से उस पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। 
 PunjabKesari

खिलाड़ी बलजीत कौर का कहना है कि वह बेहद गरीब परिवार में से है और किराए के घर में रहते हैं और उसके पिता की मौत हो चुकी है। उसकी मां ने लोगों के घरों की सफ़ाई कर उसका पालन-पोषण किया है। उसका कहना है कि उसने भी कई बार मंत्रियों को पत्र भेजा है कि उसके लिए कोई नौकरी का प्रबंध किया जाये परन्तु अभी तक उसकी किसी की तरफ से कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। 


Edited By

Tania pathak

Related News