प्रधान बनते ही नवजोत सिद्धू ने निकाला कृषि कानूनों का हल, यह बड़ा कदम उठाने का ऐलान

punjabkesari.in Wednesday, Aug 04, 2021 - 02:51 PM (IST)

पटियाला: पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि आने वाले विधानसभा सैशन में  कृषि कानूनों की संशोधन नहीं बल्कि शुरुआत से रद्द किया जाएगा और यह हमारा हक है। सिद्धू ने कहा कि आज वो दम दिखाने की ज़रूरत है, जो हमने एस. वाई. एल. के समय दिखाया था। 

सिद्धू ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के साथ भी इस मुद्दे पर चर्चा की गई थी। पंजाब सरकार और कांग्रेस पार्टी किसानों के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के बनाए काले कानूनों को रद्द करके पंजाब अपने कानून बनाएगा। नवजोत सिद्धू आज हलका घनौर से विधायक मदन लाल जलालपुर के घर पहुंचे हुए थे। इस दौरान सिद्धू के साथ कैबिनेट मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी, सुखजिन्दर सिंह रंधावा, विधायक कुलबीर ज़ीरा और नेता मौजूद थे। सिद्धू ने बातचीत दौरान कहा कि मदन लाल जलालपुर के इलैक्शन को वह अपना चुनाव समझ कर लड़ेंगे। उन्होंने मदन लाल जलालपुर के स्टैंड की तारीफ भी की।

इस दौरान कैबिनेट मंत्री सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने कहा कि अकाली सरकार की तरफ से किए गए पी. पी. ए. गलत हैं और इन पर हस्ताक्षर करने वाले बाबुओं के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि इन पी. पी. ए. को लाने वाली पिछली सरकार से भी हिसाब लिया जाएगा। रंधावा ने कहा कि हमेशा ही गाज सियासी नेताओं पर गिरती आ रही है लेकिन मलाई खाने वाले बाबू बच जाते हैं। इसलिए अब जल्द ही इन बाबुओं पर सख़्त कार्रवाई की जाए।अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल की तरफ से 400 यूनिट बिजली मुफ़्त देने के वायदे पर प्रतिक्रिया रंधावा ने कहा कि यह बातें पुरानी हो गई हैं, यदि अकाली दल चाहता तो अपनी सरकार के कार्यकाल दौरान भी यह बिजली मुफ़्त कर सकता था लेकिन उन्होंने गलत बिजली समझौते कारण पंजाब के साथ धोखा किया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Related News

Recommended News