चूरा पोस्त खुर्द बुर्द करने के मामले में आया नया मोड़, GRP द्वारा जांच जारी

punjabkesari.in Thursday, Apr 07, 2022 - 03:08 PM (IST)

लुधियाना  (गौतम) :  रेलवे स्टेशन पर 18 मार्च को सुरक्षा कर्मियों की तरफ से खुर्द बुर्द की गई चूरा पोस्त की खेप को लेकर सुरक्षा एजेंसियों के आला अधिकारी जांच में जुटे हुए है। हलांकि इन अधिकारियों का मानना है कि इस संबंध में कोई भी ठोस सबूत नहीं है। केवल सुनी सुनाई बात को लेकर ही जांच शुरू की गई है। इस बात को लेकर  सुरक्षा कर्मियों को फिरोजपुर में आला अफसरों के साथ अटैच किया जा चुका है।

जी.आर.पी.एफ. के अधिकारी अपने स्तर पर इस बात को लेकर जांच कर रहे है। सूत्रों का कहना है कि जिस मुलाजिम ने सबसे पहले चूरा पोस्त की गठरियों को देखा था, उसे लेकर ही पूछताछ जारी है। बुधवार को आर.पी.एफ. के अधिकारी जी.आर.पी. के डी.एस.पी. बलराज राणा से भी मीटिंग करने के लिए आए। अधिकारियों ने इसे रूटीन मीटिंग बताया, लेकिन सूत्रों का कहना है कि इसी मामलें को लेकर ही अधिकारी में बातचीत हुई। जी.आर.पी. के आला अफसर भी स्थानीय अधिकारियों पर इस मामले को लेकर दबाव बना रहे है और रिपोर्ट तलब करने को कह रहे है। जबकि जी.आर.पी. आला अधिकारियो को यह कह कर टाल रही है कि अभी किसी भी मुलाजिम से कोई बात नहीं हुई है।  इस मीटिंग को लेकर अधिकारियों ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया और इसे विभागीय कार्रवाई ही बताया। मामला रेलवे बोर्ड तक पहुंच चुका है।  

निकलवाई जा सकती है कर्मियों की मोबाइल लोकेशन 
सूत्रों का कहना है कि जिस ट्रेन से यह सामान फैंका गया, वह ट्रेन रात को 2 से 3 बजे पूजा एक्सप्रैस आती है। जी.आर.पी. के अधिकारियों का कहना है कि जो भी मुलाजिम उस समय उस मौके पर गए उनके मोबाइल नंबरों की लोकेशन लेकर इस बात का पता लगाया जा सकता है कि वह वहां पर इक्ट्ठे हुए या नहीं । फिर 18 मार्च से लेकर इस मुद्दे की चर्चा छिड़ने तक इनकी आपस में कितनी बार बातचीत हुई या व्हट्सअप पर कोई संदेश भेजे गए या नहीं। लेकिन यह तब संभव होगा जब जी.आर.पी. की तरफ से जांच शुरू की जाएगें। चर्चा यह भी थी कि इस मामले को एस.टी.एफ. के हवाले किया जा सकता है ताकि गहनता से जांच कर पता लगाया जा सके। माना जा रहा है कि इस मामले को हर तरफ से दबाने की कोशिश की जा रही है। जी.आर.पी. का कहना है कि आर.पी.एफ. के मुलाजिम फिरोजपुर में अटैच होने के कारण वह उनके साथ कोई बातचीत भी नहीं कर सकते। 

जी.आर.पी. अधिकारियों ने दिखाया 3 साल का रिकार्ड 
बुधवार को जी.आर.पी. की अधिकारियों से पिछले 3 साल का रिकार्ड भी चैक करवाया गया ताकि पता चल सके कि इस समय के दौरान आर.पी.एफ. की तरफ से कोई नशा तस्कर या हथियार ले जाने वाले के अलावा कोई हार्ड क्रमिनल पकड़ कर जी.आर.पी. को नहीं  दिया गया है। अधिकारियों का कहना है कि पिछले 3 साल में जी.आर.पी. के मुलाजिमों ने 24 किलो 200 ग्राम अफीम, 28 किलो 950 ग्राम चरस, 135 किलो चूरा पोस्त, 111 किलो गांजा, 120 ग्राम हेरोइन, 34080 नशीली गोलियां, 300 नशीले टीके, 7 अवैध पिस्तौल व 25 कारतसू, 40 चाकू व तेजधार हथियारों के अलावा अन्य सामान बरामद किया है और इन मामलों में महिला तस्करों को भी गिरफ्तार किया गया।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kamini

Related News

Recommended News