नए साल का तोहफा, जालंधर अस्पताल में आधे रेट पर होंगे ये टैस्ट

punjabkesari.in Monday, Dec 13, 2021 - 05:56 PM (IST)

जालंधर: जालंधर के सिविल अस्पताल में जनवरी 2022 से मार्केट की अपेक्षा आधे रेट पर एम.आर.आई. और लैबोरेट्री टेस्ट की सुविधा मिलने लगेगी। पब्लिक प्राईवेट पार्टनरशिप मोड के अंतर्गत पहले बड़े प्राजेकट में एम.आई.आर. सैंटर के साथ एडवांस लैबोरेट्री शुरू होने जा रही है। सिविल अस्पताल के अधीन प्राईवेट कंपनी के कर्मचारियों की तरफ से प्राजेकट चलाया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः सेहत मंत्री ओ.पी. सोनी सचेत, ओमिक्रोन के मद्देनजर उठाए यह कदम

अस्पताल में दाखिल होने वाले मरीजों और बाहर से आने वाले प्राईवेट अस्पताल के मरीजों को सुविधा का लाभ मिलेगा। सिविल के रेडियोलॉजिस्ट विभाग अब नई तकनीक के साथ मरीजों की जांच कर सकेगा। बताने योग्य है कि अस्पताल में पहले से ही तीन से अधिक एक्स-रे मशीनें हैं। इनमें पोर्टेबल मशीन भी है। इसके साथ ही अस्पताल में पहले से ही सिटी स्कैन भी की जा रही है परन्तु वह अभी बंद है। विभाग ने इसकी मुरम्मत करवाने के लिए कहा है। प्राईवेट कंपनी के वक्ता अनुसार अल्ट्रा मार्डन लैबोरेट्री में होने वाले टेस्ट और उनके रेट की लिस्ट तैयार की जा रही है। सिविल अस्पताल की विभागीय लैब भी साथ-साथ चलेगी। 

गंभीर मामले को बाहर भेजने में लगता था समय 
सिविल अस्पताल में हर रोज 24 घंटों में 10 से अधिक मामले मेडिको को लीगल रिपोर्ट (एम.एल.आर.) के आते हैं। इसके अलावा अस्पताल में ट्रोमा सैंटर होने के कारण यहां हादसे के मामले आते हैं। हैड इंजरी के भी मामले अक्सर आते हैं। ऐसे मामलों में एम.एल.आर. करवाने की जरूरत पड़ती है। अस्पताल में सुविधा न होने के कारण देर रात भी मरीजों को महंगे अस्पतालों और स्केनिंग सेंटरों में ले जाना पड़ता है। पी.पी.डी. मोड पर हस्पताल में प्राजेकट शुरू होने पर हैड इंजरी के अलावा बाकी मरीजों को सिविल अस्पताल में यह सुविधा मिलेगी। 

PunjabKesari

दिसंबर के अंत तक तैयार हो जाएगा डायगनोस्टिक सैंटर 
प्राईवेट कंपनी के प्रवक्ता रत्न मुताबिक सिविल अस्पताल में जो भी डायगनोस्टिक सैंटर कंपनी की तरफ से बनाया जा रहा है, उसे दिसंबर आखिर तक पूरा कर लिया जाएगा। मौजूदा समय में एम.आर.आई. के लिए कपड़ा रूम का निर्माण होने जा रहा है। इसके बाद इसको चालू हालत में लाया जाएगा। इसके अलावा सैंटर में लैबोरट्री के भी कई तरह अगर एडवांस टेस्ट कम रेट पर किए जाएंगे। 

यह भी पढ़ेंः 'आप' ने स्वीकार की सेहत मंत्री ओ.पी. सोनी की चुनौती

उधर सिविल में आने वाले दिनों में केंद्र की स्कीम के अंतर्गत अस्पताल में आर.टी.पी.सी.आर. की टेस्टिंग के लिए प्रोसेस शुरू हो गया है। हालांकि इसके लिए अभी मौजूदा समय में जगह को भी फाईनल किया जा रहा है, जिसके बाद उसे बाबा फरीद यूनिवर्सिटी की देखभाल में तैयार किया जाएगा ताकि कोरोना के पीडित मरीजों के टेस्ट अस्पताल के अंदर ही जांच की जाए। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News