SGPC प्रधान धामी के बयान पर फुलका ने दिया तीखा जवाब

punjabkesari.in Monday, Jan 17, 2022 - 11:09 AM (IST)

अमृतसर: दिल्ली की ‘आप’ सरकार के पूर्व मंत्री एडवोकेट हरविन्दर सिंह फुलका ने शिरोमणि समिति के प्रधान हरजिन्दर सिंह धामी के उस बयान पर सख्त ऐतराज जताया है, जिसमें उन्होंने उनको पार्टी से निकाले जाने की बात कही थी। इस पर जवाब देते हुए फुलका ने धामी को संबोधन करते हुए कहा कि उन्बें आपके श्री आनन्दपुर साहिब से दिए हुए बयान को सुनकर बहुत ही हैरानी हुई। इसके साथ ही यह अफसोस की बात है कि शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति जैसी इतनी बड़ी धार्मिक संस्था को सिर्फ एक परिवार और एक राजनीतिक पार्टी के लिए ही इस्तेमाल किया जाता रहा है और किया जा रहा है।

फूलका ने कहा कि वह धामी को याद करवाना चाहते हैं कि आम आदमी पार्टी ने उनको नहीं निकाला, बल्कि उन्होंने खुद इस्तीफा दिया था। उनके इस्तीफे का सब से बहुत मुद्दा 1984 सिख हत्या अध्याय केस था, क्योंकि 34 वर्षों बाद सज्जन कुमार का केस उस समय पर दिल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई पर आ गया था और सुनवाई भी शुरू हो गई थी। उस समय उनके पास मंत्री का पद होने के कारण बार कौंसिल ने उनको वह केस लड़ने से मना कर दिया था।

यह भी पढ़ंः साहनेवाल में टिकट के ऐलान में फंसा पेच, 31 कांग्रेस नेता जता रहे

फूलका ने कहा कि उस समय उन्होंने अपना फर्ज समझते हुए राजनीतिक करियर की परवाह किए बिना सिख कौम की इस बड़े मुद्दे को प्राथमिकता देना बेहतर समझा और मैं इस्तीफा देकर उन्होंने सज्जन कुमार खिलाफ केस लड़ा और उनको सजा दिलाने में सफल रहा। फुलका ने पंजाब के सिख मुख्यमंत्री बारे कहा है उस बारे भी वह याद करवाना चाहते हैं कि जब जत्थेदार श्री अकाल तख्त साहिब ने यह कहा कि पंजाब का मुख्यमंत्री चाहे हिंदू हो या सिख हो, फर्क नहीं पड़ता तो उस पर उन्होंने उनको एक चिट्ठी लिख कर उस बयान पर एतराज जताया था।

फुलका ने कहा कि आप जत्थेदार अकाल तख्त साहिब से दिया हुआ बयान वापस करवाओ। पंजाब का मुख्यमंत्री सिख होकर इस पर पंजाब के किसी हिंदू को भी एतराज नहीं है परन्तु अकाली दल यह मुद्दा अपने लाभ मुताबिक ही इस्तेमाल करता है। फुलका ने धामी को सलाह दी कि वह एक पढ़े-लिखे और समझदार व्यक्ति हैं। कानून की जानकारी होने के साथ-साथ उनको सिख की भी पूरी समझ है। ऐसे में वह बादल परिवार की तरफ से शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी को अपने लाभ के प्रयोग के लिए नहीं बल्कि एस.जी.पी.सी. और सिख पंथ की चढ़दी कला के लिए काम करें। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News