कांग्रेसियों का बादलों पर निशाना, बोले-अकाली दल पर महंतों की तर्ज पर किया पैदाइशी कब्जा

1/13/2020 9:04:07 AM

चंडीगढ़(शर्मा): शिरोमणि अकाली दल के अंदर सुखबीर बादल के  विरुद्ध बढ़ते भारी विरोध के चलते पंजाब के कई मंत्रियों ने रविवार को अकाली दल पर निशाना साधते कहा कि अकाली दल को बादल परिवार के पूरी तरह निजी कंट्रोल से मुक्त करने की जरूरत है। कैबिनेट मंत्रियों तृप्त राजिंद्र सिंह बाजवा (ग्रामीण विकास व पंचायतें), सुखबिंद्र सिंह सरकारिया (आवास निर्माण और शहरी विकास) और गुरप्रीत सिंह कांगड़ (राजस्व) ने सुखबीर बादल की पत्नी और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल के पार्टी के प्रांतीय मामलों में बढ़ते दखल पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अकाली दल की कोर कमेटी की मीटिंग में उनका बिना मैंबर बैठना उनके बढ़ते दखल की निशानी है।

सुखबीर की लीडरशिप से खुश नहीं अकाली दल नेता व वर्कर
 मंत्रियों ने कहा कि हद तो यह हो गई कि जिस अकाली दल ने 20वीं सदी के शुरू में गुरुद्वारों पर काबिज महंतों से गुरुधामों को आजाद करवाने के लिए ऐतिहासिक लड़ाई लड़ी, आज उसी अकाली दल पर बादल परिवार ने महंतों की तर्ज पर पैदाइशी कब्जा किया हुआ है। हरसिमरत की केंद्रीय मंत्री के तौर पर किए जा सकने वाले अहम कामों पर अकाली दल और पंजाब मामलों में बढ़ती शमूलियत इस बात का स्पष्ट संकेत है कि पार्टी के नेता और वर्कर सुखबीर की लीडरशिप से खुश नहीं हैं। 

PunjabKesari
 
अकाली दल ने खोया महत्व
ढींडसा पिता-पुत्र की बगावत की तरफ इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि प्रकाश सिंह बादल के समय के बाद शिरोमणि अकाली दल पूरी तरह उथल-पुथल हो गया। अगर पार्टी के सीनियर नेता लीडरशिप और विचारधारा की कमी से इतने नाखुश हैं तो आम वर्कर कितने असंतुष्ट होंगे। मंत्रियों ने कहा कि बादलों के असैद्धांतिक, अनैतिक और भ्रष्ट नेतृत्व अधीन अकाली दल ने सारा महत्व खो दिया है। बादल अपनी राजसी अखंडता गंवा चुके हैं, जिन्होंने अपने स्वार्थी निजी हितों को बढ़ावा देने के लिए पार्टी को जमीनी स्तर से पूरी तरह काट दिया है। 

PunjabKesari

हरसिमरत को नसीहत-पंजाब में दखलअंदाजी छोड़ केंद्र सरकार में पंजाब के मुद्दे उठाएं 
मंत्रियों ने कै. अमरेंद्र सिंह सरकार के खिलाफ सुखबीर द्वारा हाल ही में लगाए गए आरोपों को शिरोमणि अकाली दल के पतन और पार्टी में उनके (सुखबीर) खिलाफ बढ़ रही नाराजगी से ध्यान हटाने की एक निराशाजनक कोशिश बताया। मंत्रियों ने केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल को नसीहत दी कि वह अकाली दल के पंजाब मामलों में दखलअंदाजी करने की बजाय केंद्र सरकार में पंजाब के मुद्दों को उठाएं ताकि पंजाब के हितों की रक्षा की जा सके, जिस सरकार का वह हिस्सा हैं। मंत्रियों ने इस बात पर जोर दिया कि बादल परिवार अकाली दल से एक तरफ होकर ऐसे नेताओं के हाथ कमान सौंपे जो अकाली दल की विचारधारा को समर्पित हैं। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर बादलों ने ऐसा न किया तो अकाली दल को पंजाब और भारत के राजसी नक्शे से पूरी तरह मिटा दिया जाएगा। 

 

PunjabKesari


सबसे ज्यादा पढ़े गए

swetha

Recommended News

static