ढडरियां वाले ने अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार पर फिर साधा निशाना

8/8/2020 6:03:58 PM

चंडीगढ़ (टक्कर): अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण के मौके पर  देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा था कि सिख धर्म के दशम गुरु श्री गुरु गोबिंद सिंह जी की तरफ से 'गोबिंद रामायण' लिखी गई, जबकि पटना साहिब के पूर्व जत्थेदार इकबाल सिंह ने कहा था कि श्री गुरु नानक देव जी और गुरु गोबिंद सिंह जी भगवान श्री राम जी के वंशज में से हैं। इन बयानों ने सिख धर्म के विद्वानों में नई चर्चा छेड़ दी है।

इस संबंधित सिख धर्म के प्रचारक भाई रणजीत सिंह ढडरियां वालों ने श्री अकाल तख़्त साहिब के जत्थेदार भाई हरप्रीत सिंह पर निशाना साधते कहा कि जत्थेदार जी सिख कौम को जवाब देते दुविधा में से निकाले कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पूर्व जत्थेदार इकबाल सिंह की तरफ से दिया बयान सही है या गलत। भाई रणजीत सिंह ने कहा कि पूर्व जत्थे. इकबाल सिंह ने, जो यह तथ्य पेश किए कि हमारे गुरु साहिबानों के वंशज भगवान राम के पुत्र लव और कुश थे, यह सब कुछ हमारे ही दशम ग्रंथ में लिखा हुआ है, इसलिए श्री अकाल तख़्त साहिब के जत्थेदार जी स्पष्ट करो कि दशम ग्रंथ में जो कुछ लिखा सही है या गलत।

उन्होंने कहा कि यदि यही बयान उन्होंने दिया होता तो अब तक बहुत बड़ा विवाद हो जाना था लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से और अकाल तख़्त साहिब के पूर्व जत्थेदार की तरफ से दिए बयान पर सभी ने चूप्पी क्यों धारण की है। भाई रणजीत सिंह ने कहा कि वह हमेशा ही कहते हैं कि दशम ग्रंथ में जो लिखा है, अब सामने आने लग गया है। उन्होंने कहा कि हमें हमेशा यह बताया गया है कि सिख एक अलग कौम है, जबकि अब हमें लव -कुश के वंशज में से बताया जा रहा है। भाई रणजीत सिंह ने कहा कि श्री अकाल तख़्त साहिब के जत्थेदार भाई हरप्रीत सिंह देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पूर्व जत्थे. इकबाल सिंह के बयानों के बारे अपना पक्ष ज़रूर रखें।


 


Vatika

Related News