छात्रा को Kidnap करने के मामले में आया नया मोड़, इस खतरनाक गैंगस्टर के साथी थे दोनों आरोपी

9/23/2020 3:50:12 PM

गुरदासपुर(विनोद): सीमावर्ती गांव उगरा मे एक नाबालिग +1 की छात्रा को पिस्तोल की नोक पर अगवा करने के मामले ने नया मोड़ लिया है। इस छात्रों को अगवा करने वालों का संबंध खतरनाक गैंगस्टर सुख भिखारीवाल के साथ पाया जा रहा है तथा सुख भिखारीवाल लम्बे समय से भगोडा है तथा वह विक्की गोंडर का साथी था। जानकारी के अनुसार इस गत दोहपर को गांव उगरा मे रमनजीत कौर पुत्री इकबाल सिंह का कुछ लोगों ने पिस्तोल की नोक पर अपहरण किया था।
PunjabKesari
आरोपियों ने हवा मे दो तीन फायर भी किए थे। आरोपी रमनजीत कौर के घर मे प्रवेश कर उसके पिता तथा मां के सामने रमनजीत कौर का हाथ पकड़ कर ले गए थे। गांव के कुछ लोगों ने आरोपियों ने पीछा भी किया था परंतु आरोपी भागने मे सफल हो गए।प्रथम चरण मे तो यह मामला बदमाशी तथा लडक़ी के जर्बी अपहरण का लगा था। पंरतु बाद मे पुलिस द्वारा मामले की गहनता से जांच करने तथा परिवार के सभी सदस्यों के ब्यान लिए गए। तब रमनजीत कौर की मां ने दबी जुबान मे स्वीकार किया कि रमनजीत कौर को अपहरण करने मे मुख्य भूमिका निभाने वाला आरोपी सुखदीप सिंह उर्फ बूरा पुत्र सुरिन्द्र सिंह निवासी गावं खरल का हमारे पढ़ोसी वजीत सिंह पुत्र घ्यान सिंह के घर आना जाना था तथा रमनजीत कौर की सुखदीप सिंह से जान पहचान भी थी। इस बात को उसने अपने परिवार के अन्य मैंबरों को नही बताया था। 

क्या कहना है डी.एस.पी.महेश सैनी का
इस मामले की जांच कर रहे डी.एस.पी.दीनानगर महेश सैनी ने बताया कि जो 6 नौजवान गत दिवस रमनजीत कौर को अगवा करने मे शामिल थे उनमे सुख भिखारीवाल गैंगस्टर का साथी सुखदीप ङ्क्षसह उर्फ बूरा तथा गुरजीत ङ्क्षसह उर्फ भाअ पुत्र हरभजन सिंह निवासी गांव लखनपाल तथा चार अज्ञात नौजवान थे जो मोटर साईकलों पर रमनजीत कौर को अगवा कर ले गए। डी.एस.पी.सैनी ने बताया कि सुखदीप ङ्क्षसह उर्फ भूरा तथा गुरजीत ङ्क्षसह दोनो ही गैंगस्टर सुख भिखारीवाल के साथी है तथा दोनो की कई केसों मे पहले ही शामिल है। सुख भिखारीवाल लम्बा समय गैंगस्टर विक्की गोंडर का साथी रहा है तथा गुरदासपुर बाईपास पर चार वर्ष पहले हुए गोलीकांड मे शामिल था। जबकि सुखदीप ङ्क्षसह अपने ही गांव के गैंगस्टर ज्ञाना खरलावाला का भी साथी रह चुका है। इन आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी की जा रही है तथा जल्दी ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लडकी को बरामद कर लिया जाएगा। एक प्रश्न के जवाब मे डी.एस.पी.ने कहा कि अभी यह नही कहा जा सकता कि रमनजीत कौर अपनी मर्जी से आरोपियों के साथ गई है या उसे अगवा किया गया है। पंरतु आरोपियों ने जिस तरह से गोलिया चलाई है उस कारण हमें आरोपियों की तालाश  गैंगस्टर के रूप मे ही कर रहे है।


Vatika

Related News