फिर दागदार हुई खाकी, पुलिस इंस्पेक्टर की ये शर्मनाक करतूत आपको भी कर देगी हैरान!

4/14/2021 1:12:09 PM

तरनतारन (रमन): जिला पुलिस में तैनात एक इंस्पैक्टर व जिला अमृतसर से संबंधित एक मुख्य सिपाही द्वारा एक किलो हैरोइन सहित काबू किए तस्करों को 3.50 लाख रुपए की रिश्वत वसूल करने के उपरांत हैरोइन सहित छोड़ देने का मामला सामने आया है। जिस पर एस.एस.पी. द्वारा सख्त एक्शन लेते हुए दोनों पुलिस मुलाजिमों व तस्करों सहित कुल 5 के खिलाफ थाना सिटी तरनतारन में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। फिलहाल पुलिस ने मुख्य सिपाही को गिरफ्तार कर लिया है, परंतु इंस्पैक्टर व फरार बाकी आरोपियों के लिए छापेमारी की जा रही है। 

जानकारी अनुसार जिले के नार्कोटिक सैल की पुलिस पार्टी को गुप्त सूचना मिली कि पुलिस लाईन में तैनात इंस्पैक्टर बलजीत सिंह जिसने मुख्य सिपाही दविंदर सिंह जो जिला अमृतसर के पैरवी सैल में तैनात हैं के साथ मिल कर बीती 31 मार्च को ब्रेजा गाड़ी जरिए मलकीत सिंह उर्फ पलटा पुत्र मेजर सिंह निवासी गुरूवाली जिला अमृतसर व उसके साले बाऊ सिंह निवासी गोहलवड़ को थाना सिटी तरनतारन की सीमा में एक किलो हैरोइन सहित काबू किया था। जिसके बाद इस मामले को निपटाने के लिए जसबीर सिंह उर्फ जस्सा पुत्र सरबजीत सिंह निवासी गुरूवाली ने इंस्पैक्टर बलजीत सिंह के घर बैठ कर 3 लाख 50 हजार रुपए की रिश्वत दी। रिश्वत के रुपए मिलने के बाद इंस्पैक्टर बलजीत सिंह ने दोनों तस्करों को बरामद की हैरोइन सहित बिना कोई कार्रवाई किए छोड़़ दिया। 

मिली रिश्वत के पैसों को आखिर इंस्पैक्टर बलजीत सिंह, मुख्य सिपाही दविंदर सिंह व जसबीर सिंह ने आपिस में बांट लिया। नार्कोटिक सैल को सूचना मिली थी कि आज मुख्य सिपाही दविंदर सिंह सी.आई.ए. स्टाफ नजदीक घूमता देखा गया है। जिस पर कार्रवाई कर नार्कोटिक सैल के ए.एस.आई. करतार सिंह ने सहित पुलिस पार्टी दविंदर सिंह को काबू कर लिया।

इस मामले को लेकर एस.एस.पी. ध्रुमन एच. निंबाले ने बताया कि तस्करों का साथ देने वाले इंस्पैक्टर बलजीत सिंह, मुख्य सिपाही दविंदर सिंह, तस्कर मलकीत सिंह उर्फ पलटा पुत्र मेजर सिंह निवासी गुरूवाली, बाऊ सिंह निवासी गोहलवड़ व जसबीर सिंह उर्फ जस्सा पुत्र सरबजीत सिंह निवासी गुरूवाली के खिलाफ थाना सिटी तरनतारन में केस दर्ज करते हुए मुख्य सिपाही दविंदर सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है। इंस्पैक्टर बलजीत सिंह सहित फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें रवाना कर दी गई हैं। इसके अलावा बलजीत सिंह को नौकरी से सस्पैंड करते हुए उसकी विभागीय जांच डी.एस.पी. पट्टी कुलजिंदर सिंह द्वारा शुरू कर दी गई है।


Content Writer

Tania pathak

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static