सरेआम पूर्व फौजी ने की गोलियां मारकर हत्या, सोशल मीडिया पर की Live Video वायरल

8/5/2020 10:17:51 AM

तरनतारन(रमन): थाना सिटी अधीन आके गांव नूरदी में सरेआम वीडियो वायरल को लेकर हुए मामूली तकरार दौरान एक मैडीकल स्टोर मालिक की हत्या कर दी गई, जिस संबंधित थाना सिटी की पुलिस ने परिवारिक सदस्यों के बयान लेने तहत कार्रवाई शुरू कर दी है। बुधवार सुबह मृतक का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा।

PunjabKesari

वायरल वीडियो ने हंसता-खेलता घर किया तबाह 
मंगलवार सुबह घर में पाठ करने उपरांत सोशल मीडिया पर पूर्व फौजी की तरफ से वायरल हुई वीडियो को देख उसे डिलीट करवाने गए सुखचैन को यह नहीं पता था कि वह घर वापस नहीं लौटेगा। जब सुखचैन अपने पिता के साथ पूर्व फौजी को वीडियो डिलीट करने के लिए कहने लगा तो मामूली तकरार के बाद फौजी ने अपनी लाइसैंसी बंदूक से सीधी गोलियां चलाते हुए सुखचैन सिंह की हत्या कर दी। रंधावा मैडीकल स्टोर चालक सुखचैन सिंह (25) पुत्र परमजीत सिंह निवासी नूरदी जो मंगलवार सुबह घर पाठ कर रहा था। सोशल मीडिया पर गांव के पूर्व फौजी जसबीर सिंह पुत्र मुखत्यार सिंह ने नशा बेचने के झूठे आरोप लगाते हुए सुखचैन के खिलाफ वीडियो वायरल कर दी थी, जिसके बाद फौजी अपनी लाइसैंसी बंदूक के साथ लैस होकर मकान की छत पर खड़ा हो गया।

PunjabKesari

सरेआम चलाई गोलियां
इस घटना की सारी वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है, जिसमें साफ दिखाई दे रहा है कि फौजी जसबीर सिंह किस तरह गोलियां चला रहा था। इस दौरान जसबीर सिंह के कुछ परिवारिक मैंबर भी गोली चलाने से पहले साथ खड़े नजर आ रहे हैं। फौजी की बेटी को सुखचैन आवाज मार कर नीचे से वायरल की वीडियो को डिलीट करने संबंधित बार-बार कहता नजर आ रहा है, परंतु फौजी उसकी कोई बात सुनने से पहले ही बंदूक में गोलियां लोड करता है और साथ ही फायर कर देता है, जो सुखचैन सिंह को लगते हैं। 

युवाओं को नशे से दूर रखने के प्रयास करने वाले की राखी से अगले दिन ही गई जान 
हर साल विष्क्रमा दिन मौके सुखचैन सिंह अपने गांव की ग्राउंड में कबड्डी टूर्नामैंट करवाता था, जिस पर आने वाला करीब दो लाख रुपए खर्च भी वह खुद करता था। वहीं युवकों को नशे से दूर रहने की अपील करने के साथ विजेता खिलाडिय़ों को मोटी रकमों के इनाम भी बांटता था।एक दिन पहले राखी के त्यौहार मौके भाई की लंबी उम्र को लेकर कामना करनेे वाली बहन नवतेज कौर का रो-रो कर बुरा हाल हो रहा है, जो ईश्वर को यह कह कर कोसती नजर आई कि हमने तुम्हारा क्या बुरा किया था। वहीं माता कुलविंदर कौर घर की दलहीज पर खड़ी होकर भूखी-प्यासी अपने पुत्र का इंतजार करती रही, जबकि पिता के बुढ़ापे का सहारा बनने वाला जवान हुआ सुखचैन पिता की उम्मीदों को अचानक धोखा दे गया। इस हत्या मामले को लेकर थाना सिटी के सब इंस्पैक्टर मनमोहन सिंह ने बताया कि परिवारिक सदस्यों के बयानों पर केस दर्ज करने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है और मृतक का पोस्टमार्टम बुधवार सुबह करवाया जाएगा।


Vatika

Related News