427 करोड़ बोगस बिलिंग केस: सी.जी.एस.टी. विभाग ने कई जगह की रेड

punjabkesari.in Tuesday, Sep 28, 2021 - 11:22 AM (IST)

लुधियाना: सैंट्रल गुड्स एंड सर्विस टैक्स (सी.जी.एस.टी.) की टीम ने सोमवार को 427 करोड़ की बोगस बिलिंग कर करोड़ों रुपए का फर्जी इनपुट क्रैडिट लेने के मामले में कार्रवाई करते हुए कई स्थानों पर रेड की। देर रात तक विभाग की तरफ से कई जगहों पर सर्च अभियान जारी था। अधिकारियों की अलग-अलग टीमों ने उन बैंकों से दस्तावेज बरामद किए जिन प्राइवेट बैंकों में उनके खाते थे क्योंकि विभाग को जानकारी थी कि साल 2018 से इन लोगों ने करोड़ों रुपए की ट्रांजैक्शंस की हैं। इस कार्रवाई के दौरान फर्जी रिफंड लेने वाले कई लोगों के बारे में जानकारी मिली है जो विभाग के राडार पर हैं। विभाग को कई अहम सुराग मिले हैं जिन पर युद्ध स्तर पर कार्रवाई की जा रही है।

विभाग ने इस मामले में प्रमुख आरोपी गुरबख्श लाल उर्फ हैप्पी नागपाल को गिरफ्तार कर ज्यूडिशियल रिमांड पर भेज दिया है। हैप्पी ने खुद ही विभाग के बढ़ते दबाव के कारण सरैंडर कर दिया था। इस मामले में उसके 2 साथियों रजिंदर व संदीप को 5 फरवरी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। आरोपियों की तरफ से प्राइवेट बैंकों के खातों में 100 करोड़ से अधिक की ट्रांजैक्शंस की गई थीं जिसे लेकर इंफोर्समैंट व इंकम टैक्स विभाग की नजर इस मामले पर है।

सूत्रों के अनुसार आरोपियों की तरफ से 32 फर्मों के जरिए काम किया जा रहा था और लोहे व स्टील के स्क्रैप की बिलिंग की जा रही थी। स्क्रैप पर 18 प्रतिशत जी.एस.टी. की जगह वह लोगों को काफी कम रेट पर बिल सप्लाई करते थे जबकि माल सप्लाई नहीं किया जाता था। आरोपी हर रोज बैंकों से लाखों रुपए निकालते थे। जिन लोगों के नाम पर फर्में बनाई गई थीं उन्हें हर महीने 30 से 50 हजार रुपए दिए जाते थे। विभाग की तरफ से हैप्पी से संबंधित अन्य लोगों की तलाश की जा रही है। डिप्टी कमिश्नर तान्य बैंस इसकी नोडल अधिकारी हैं जिनकी अगुवाई में कई बड़े मामलों का पर्दाफाश किया जा चुका है और 1600 करोड़ की बोगस बिलिंग में 24 से अधिक लोगों को पकड़ा जा चुका है।

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sunita sarangal

Related News

Recommended News