कोरोना के खिलाफ डटकर खड़े पंजाब पुलिस के कर्मचारियों को वेतन कटने का डर, CM को लिखेंगे पत्र

4/23/2020 4:34:50 PM

 

लुधियानाः कोरोना के खिलाफ दिन-रात ड्यूटी दे रहे पुलिस कर्मचारियों को अपना वेतन कटने डर है। राज्य की बिगड़ी अर्थव्यवस्था के बीच वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल के बयानों से इसके संकेत मिले हैं। इस पर पुलिस के मुलाजिमों में भय का माहौल है, लेकिन वह खुलकर अपनी बात नहीं रख पा रहे हैं और सोशल मीडिया का सहारा ले रहे हैं। वहीं, मोगा जिले से संबंधित एक पुलिस मुलाजिम की ऑडियो वायरल हो रही है, जिसकी ड्यूटी वहां की सब्जी मंडी में लगी थी। उसका कहना है कि वह और उसके साथ के पुलिस मुलाजिम सुबह 4 बजे यहां ड्यूटी पर आते हैं, इसके बाद देर रात तक ड्यूटी करते हैं।

 

इसी बीच जब उसने पुलिस मुलाजिमों के वॉट्सएप ग्रुप चेक किए, तो उसमें देखने को मिला है कि वह सभी अपना वेतन कटने को लेकर परेशान हैं। पुलिस मुलाजिम के अनुसार वह इस मुश्किल घड़ी में पहली कतार में खड़े होकर कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रहे हैं। वहीं, आर्थिक संकट के कारण अब मुलाजिमों का वेतन काटने की सरकार योजना बना रही है। यह सही नहीं होगा। ड्यूटी ज्यादा तो हो ही रही है, बल्कि उनके रोजाना के खर्च भी बढ़ गए हैं। वह अपने वाहनों में खुद तेल डलवा रहे हैं और ड्यूटी दे रहे हैं। खाना भी आधा-अधूरा ही मुहैया हो रहा है। वह घर से खाना और चाय लेकर आ रहे हैं।

पुलिस मुलाजिम का कहना है कि अगर वेतन काटना ही है तो उन मुलाजिमों का कटना चाहिए जो घरों में बैठे हुए हैं और उनसे कोई काम भी नहीं लिया जा रहा है। या फिर पांच पांच पेंशन ले रहे पूर्व मंत्रियों और विधायकों का कटना चाहिए। हम लोगों ने तो पहले ही अपनी इच्छा अनुसार पैसे पुलिस वेलफेयर फंड में दिए हुए हैं। नाके पर मौजूद एक पुलिस कर्मचारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया है कि पुलिस के कर्मचारी इस बात को लेकर भय में हैं कि उनका वेतन न कहीं कट जाए। वह अपने परिवार और अपनी खुद की जिंदगी रिस्क में डालकर ड्यूटी कर रहे हैं। ऐसे में उनका वेतन नहीं काटा जाए, इसके लिए वह गुमनाम पत्र डी.जी.पी. पंजाब और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह को लिखेंगे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

swetha

Related News

Recommended News