#JUSTICEforNEETUG: छात्रों ने शिक्षा मंत्री को किए 10 लाख से अधिक Tweet, बताई ये समस्याएं

punjabkesari.in Tuesday, Jun 21, 2022 - 01:56 PM (IST)

लुधियाना(विक्की): नीट यू.जी. 2022 परीक्षा 17 जुलाई 2022 को होने जा रही है लेकिन उम्मीदवार इसे अगस्त तक स्थगित करने की मांग कर रहे हैं। नीट यू.जी. परीक्षा स्थगित करने की मांग कर रहे उम्मीदवारों ने अब केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को एक नया पत्र लिखा है जिसमें मैडीकल एंट्रैंस परीक्षा स्थगित करने की मांग और मांग की वजह गिनाई गई हैं। हालांकि अधिकारी की ओर से इस पर अभी तक कोई जवाब नहीं आया है।

#JUSTICEforNEETUG हैशटैग ट्विटर पर ट्रैंड हो रहा है। 10 लाख से ज्यादा उम्मीद नीट परीक्षा स्थगित की मांग को लेकर ट्वीट कर चुके हैं। उम्मीदवार तैयारी के लिए उचित समय न मिल पाने और आगे करियर को लेकर मानसिक तनाव महसूस कर रहे हैं। नैशनल एलिजीबिलिटी कम एंट्रैंस टैस्ट अंडरग्रैजुएट (नीट यू.जी.) को स्थगित करने की मांग के साथ शिक्षा मंत्री को लिखा पत्र सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है। उम्मीदवार ने पत्र में शिक्षा मंत्री से उनकी परेशानी समझने और नीट यू.जी. 2022 परीक्षा अगस्त में आयोजित करने का अनुरोध किया है ताकि छात्र अच्छे से परीक्षा की तैयारी कर सकें। उम्मीदवारों ने नीट यू.जी. अधिकारियों से भी आग्रह किया कि वे छात्रों के हित में इस मामले को उठाएं और उन्हें कम से कम 6 सप्ताह का समय दें और तारीखों को अगस्त के अंत या सितम्बर की शुरूआत में आयोजित करें ताकि वे परीक्षा की अच्छी तैयारी कर सकें।

 

शिक्षा मंत्री को लिखे पत्र में बताई ये समस्याएं

1. नीट यू.जी. की तैयारी के लिए छात्रों के पास ज्यादा समय नहीं है। 2 महीने में तैयारी नहीं हो पाएगी।

2. कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रैंस परीक्षा (सी.यू.ई.टी.) जुलाई 2022 के पहले और दूसरे सप्ताह में आयोजित किया जाएगा। छात्र एक साथ कई परीक्षाओं की तैयारी कैसे करेंगे?

3. ऐसे बहुत से छात्र हैं जो जे.ई.ई. मेन परीक्षा में बैठने वाले हैं, जोकि नीट यू.जी. के 3 दिन बाद आयोजित किया जाएगा।

4. काऊंसलिंग में देरी के चलते छात्रों के पास नीट यू.जी. की तैयारी के लिए पर्याप्त समय नहीं है।

5. काऊंसलिंग कुछ दिन पहले ही शुरू हुई, ऐसे में ड्रॉपर्स 3 महीने में कैसे तैयारी कर सकते हैं।

6. एकैडमिक सीजन हाल ही में शुरू हुआ है तो नया सैशन इतनी जल्दी कैसे शुरू किया जा सकता है।

अग्निपथ स्कीम का हिंसक विरोध कर रहे उम्मीदवारों की ओर इशारा करते हुए लिखा कि यह शांति से, ऑनलाइन और आदर के साथ किया गया है, क्या उनकी सुनवाई या जवाब नहीं दिया जाना चाहिए। उनकी बात समझने लायक हैं अनदेखा करने के नहीं।

 

 

 

 

 

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Related News

Recommended News